मुखिया बनने के बाद भी राहत नहीं, मिल रही है पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी, इस पंचायत का है मामला

मुखिया बनने के बाद भी राहत नहीं, मिल रही है पूरे परिवार को जान से मारने की धमकी, इस पंचायत का है मामला

KATIHAR : बिहार में पंचायत चुनाव से जुड़े कई मामला आने के बाद लॉ एंड ऑर्डर को लेकर एक बार फिर सवाल उठने लगा है, पंचायत चुनाव के अलावे  कई जिलों से चुने गए प्रतिनिधि और उनके परिजनों के साथ भी मारपीट या जानलेवा हमला जैसी बातें सामने आई है। इसी कड़ी में कटिहार अमदाबाद प्रखंड के बैरिया पंचायत से एक सनसनीखेज मामला प्रकाश में आया है,जिसमे बैरिया पंचायत के नवनिर्वाचित महिला मुखिया मुन्नी खातून का आरोप है कि चुनाव जीतने के बाद से ही वह और उनके पति अपने पंचायत में लोगो के शुक्रिया अदा करने तक नहीं जा पा रहे हैं। 

दरअसल गांव के ही कुछ दबंगों के साथ मिलकर चुनाव में तीसरे नंबर पर रहे सबीना खातून की पति आलमगीर  उनको और उनके पति गुलजार को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं, अलग-अलग कई माध्यमों से धमकी मिलने के बाद वे लोग दहशत में हैं,  मुन्नी खातून इससे पहले वाले टर्म में भी मुखिया थे और इस बार भी वह पुनः जीत हासिल किया है लेकिन इस चुनावी परिणाम के बाद तीसरे स्थान पर आए मुखिया उम्मीदवार के पति कुछ असामाजिक दबंग लोगो के साथ मिलकर कर उनसे रंगदारी मांग रहे है। दबंगो के दहशत से फिलहाल नवनिर्वाचित मुखिया मुन्नी खातून और उनके पति गांव छोड़कर पुलिस से इंसाफ दिलाने की गुहार लगा रहे हैं।

कटिहार एसपी ने पूरे मामले की पुष्टि करते हुए कहा कि इस बाबत मुखिया  मुन्नी खातून द्वारा उन्हें भी एक आवेदन प्राप्त हुआ है, इस मामले को जांच के लिए संबंधित अमदाबाद थाना को भेज दिया गया है,जांच में जो भी बातें सामने आएगी उसके अनुसार कार्यवाही किया जाएगा। 

निश्चित तौर पर अगर इस आरोप में जरा भी सच्चाई है तो यह एक गंभीर विषय है एक पंचायत में विकास के अलावा ग्रामीणों की सुरक्षा की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी ग्रामीण प्रतिनिधि मुखिया पर होता है लेकिन अगर मुखिया ही अपनी सुरक्षा की गुहार को लेकर भागा भागा फिर रहे हो तो सुदूर इलाके में आम लोग कितना सुरक्षित है इसका अंदाजा आप लगा सकते हैं।


Find Us on Facebook

Trending News