कोरोना काल में बिहार का कोई ऐसा गरीब नहीं, जिसके खाते में 3 से 4 हजार रुपये नहीं भेजा गया : सुशील मोदी

कोरोना काल में बिहार का कोई ऐसा गरीब नहीं, जिसके खाते में 3 से 4 हजार रुपये नहीं भेजा गया :  सुशील मोदी

Patna :  कोरोना काल में बिहार मे कोई ऐसा गरीब नहीं है जिसके खाते में सरकार ने 3 से 4 हजार रुपये नहीं भेजा गया है। उक्त बातें बिहार के उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कही है। 

आज ग्रामीण व नगर विकास तथा श्रम संसाधन विभाग की विभिन्न योजनाओं के उद्घाटन व शिलान्यास के मौके पर आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने कहा कि कोरोना काल में बिहार का कोई भी ऐसा गरीब परिवार नहीं होगा जिसके बैंक खाते में 3 से 4 हजार रुपये नहीं गए होंगे। 

उन्होंने कहा कि संकट के समय जो गरीबों की मदद करता है, गरीब उसे कभी नहीं भूलता है। सुशील मोदी ने राज्य के 13.68 लाख निर्माण मजदूरों के खाते में प्रति मजदूर 2-2 हजार रुपये डीबीटी के जरिए भेजने के मौके पर कहा कि इसके पूर्व कोरोना संकट के दौरान बिहार की 2.38 करोड़ महिलाओं के जनधन खाते में प्रति खाते 1500 की दर से 3,545 करोड़ रुपये तथा 1.60 करोड़ राशनकार्डधारियों के खाते में एक-एक हजार रुपये की दर से 1,600 करोड़ रुपये भेजे गए हैं। 

डिप्टी सीएम ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत जिन तालाब,पोखर, आहर, पाईन आदि की उड़ाही की गई है, उसके पानी को किसी भी कीमत पर प्रदूषित नहीं होने दें। 

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बनाए गए शौचालयों का उपयोग तो अमूमन महिलाएं कर रही है, मगर पुरुषों को भी खुले में शौच जाने के बजाय शौचालय के उपयोग की आदत डालनी चाहिए। इस साल 3.5 करोड़ पौधे लगाए गए है, अगले साल 5 करोड़ से ज्यादा पौधारोपण का लक्ष्य रखा गया है।

Find Us on Facebook

Trending News