मार्कशीट-सर्टिफिकेट खोने पर नहीं होगी परेशानी, बिहार बोर्ड ने 39 साल के रिकॉर्ड किए ऑनलाइन, इस तरह कर सकते हैं आवेदन

मार्कशीट-सर्टिफिकेट खोने पर नहीं होगी परेशानी, बिहार बोर्ड ने 39 साल के रिकॉर्ड किए ऑनलाइन, इस तरह कर सकते हैं आवेदन

PATNA :  मैट्रिक और इंटर की मार्कशीट और सर्टिफिकेट खो जाने की स्थिति में अब बिहार बोर्ड के चक्कर काटने की जरुरत नहीं होगी। बीएसईबी ने बिहार के सभी पुराने छात्रों की परेशानी दूर करते हुए 39 साल के सभी सर्टिफिकेट ऑनलाइन कर दिए हैं। अब घर बैठे ही मैट्रिक या इंटर उत्तीर्ण छात्र अपना अंक पत्र और मूल प्रमाण पत्र की सॉफ्ट कॉपी के लिए ईमेल से आवेदन कर सकते हैं। प्रमाणपत्र उनके ईमेल पर ही भेजे जाएंगे।

पहले करना पड़ता था आवेदन

बोर्ड द्वारा पहले मैनु़अल प्रमाण पत्र दिया जाता था। अगर किसी छात्र को अपना द्वितीय मूल प्रमाण पत्र चाहिए होता तो उन्हें ऑफलाइन आवेदन करना होता था। इसके बाद उन्हें प्रमाण पत्र मिलता था। क्योंकि 2010 के पहले मैट्रिक और इंटर के प्रमाण पत्र डिजिटल नहीं थे।जरूरत होने पर छात्र आवेदन देकर प्रमाण पत्र प्राप्त करते थे 

लेकिन अब बिहार बोर्ड ने 2010 के पहले और 1983 तक के सभी प्रमाण पत्र को डिजिटल कर दिया है। वहीं, 1983 के पहले के सभी प्रमाण पत्र को डिजिटल करने का काम चल रहा है। 

1960 से 1982 के रिकॉर्ड भी होंगे ऑनलाइन

ज्ञात हो कि बिहार विद्यालय परीक्षा समिति की स्थापना 1952 में हुई थी। बोर्ड द्वारा 1960 से 1982 तक के प्रमाण पत्र को डिजिटल किया जायेगा। प्रमाण पत्र के डिजिटल होने से बिहार बोर्ड के लाखों छात्रों को फायदा होगा।

कहीं भी कर सकते हैं आवेदन : छात्र ऑनलाइन के साथ ऑफलाइन भी आवेदन कर सकते हैं। आवेदन के लिए अब छात्रों को पटना आने की आवश्यकता नहीं होगी। छात्र देश भर के किसी भी कोने से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। वहीं, ऑफलाइन आवेदन नौ प्रमंडल में क्षेत्रीय कार्यालय के अलावा दिल्ली क्षेत्रीय कार्यालय से किया जा सकता है। बोर्ड की मानें तो छात्र द्वारा सही जानकारी के साथ आवेदन करने पर कुछ ही घंटों में प्रमाण पत्र निर्गत कर दिया जाता है।


Find Us on Facebook

Trending News