यह नगर निगम का इलाका है : आठ घंटे की बारिश से शहर के हर सड़क व गली मोहल्ले में दो से 3 फीट जलजमाव, अब सिर्फ नाव चलना रह गया है शेष

यह नगर निगम का इलाका है : आठ घंटे की बारिश से शहर के हर सड़क व गली मोहल्ले में दो से 3 फीट जलजमाव, अब सिर्फ नाव चलना रह गया है शेष

CHHAPRA :  लगातार 8 घंटे से हो रही बारिश से छपरा नगर निगम में बाढ़ जैसे हालात उत्पन्न हो गए हैं। नगर निगम क्षेत्र का ऐसा कोई सड़क व गली नहीं है जहां दो से 3 फीट जलजमाव ना हुआ हो। इतना ही नहीं सभी सरकारी व प्राइवेट कार्यालयों, मुख्य बाजारों, हाटों के पास भी जलजमाव की समस्या उत्पन्न हो गई है। शहर के निचले इलाकों में तो यह जलजमाव 3 से 4 फीट तक है जहां बाइक व साइकिल तक डूब जा रहे हैं। अब स्थिति यह है कि यहां किसी मोहल्ले में नाव चलते नजर आएं तो कोई आश्चर्य नहीं होगा

मालूम हो कि पिछले 10 दिनों से बूंदाबांदी हो रही है, लेकिन शनिवार की रात से शुरू हुई झमाझम बारिश रविवार की सुबह 9:00 बजे तक जारी थी। सबसे खराब स्थिति उन गरीबों की हुई जो  तिरपाल याद टाट बनाकर किसी तरह तरह से अपना जीवन बसर कर रहे थे। वह आप अपना घर बार छोड़कर सड़क के किनारे मकानों के छज्जे के नीचे समय गुजारने को विवश हो गए हैं। अब उनके सामने भोजन की भी समस्या उत्पन्न हो गई है। भीषण बारिश से जीव जंतु भी काफी परेशान है।  कुल मिलाकर यह कहा जाए कि नगर निगम कर्मियों की लापरवाही का खामियाजा छपरा शहर वासियों को भुगतना पड़ रहा है। आम लोग घर से बाहर नहीं निकल पा रहे हैं। 

जलजमाव को रोकने के लिए नहीं है कोई मास्टर प्लान

लोगों का कहना है कि नगर निगम ने समय रहते पूरे लॉकडाउन के दौरान नालों की उड़ाई या सफाई नहीं करवाई जिसके वजह से यह समस्या उत्पन्न हो गई है। यदि नगर निगम समय रहते चेत जाता तो आज यह स्थिति उत्पन्न नहीं होती। लोगों का यह भी कहना है कि अभी तक छपरा का कोई मास्टर प्लान तैयार नहीं हुआ है। जिससे शहर की जल निकासी व्यवस्था दुरुस्त हो सके। शहर के साहेबगंज चौक निवासी अरविंद कुमार गुप्ता, अजय कुमार राय ,शकुंतला देवी ,अमीना खातून, शहनाज बेगम आदि ने बताया कि लगातार हो रही बारिश से उनका घर से निकलना मुश्किल हो गया है।  ऐसे में ना तो बच्चों का नाश्ता बना पा रहा हूं और ना ही घर का कोई काम हो पा रहा है। 

इसी तरह से शहर के गुदरी बाजार निवासी प्रेमचंद प्रसाद , आदित्य नारायण, शांति देवी, कुंती देवी, प्रमिला कुमारी आदि ने कहा की नगर निगम की लापरवाही का खामियाजा हम शहरवासी भुगत रहे हैं, वही जब इस संबंध में नगर निगम के सिटी मैनेजर मोहम्मद आरिफ से बात की गई तो उन्होंने कहा कि नालों की सफाई हो रही है सफाई होने के कारण ही आज तेजी से जल निकासी हो रही है। सफाई ने जब रफ्तार पकड़ा तो  बारिश शुरू हो गई इसमें कहीं कोई लापरवाही नहीं हुई है।


Find Us on Facebook

Trending News