यह मुजफ्फरपुर है बाबू, जहां मौत चुपके से नही, सूचना देकर आती है , यहां आवेदन और निवदेन का कोई मतलब नहीं

यह मुजफ्फरपुर है बाबू, जहां मौत चुपके से नही, सूचना देकर आती है , यहां आवेदन और निवदेन का कोई मतलब नहीं

MUZAFFARPUR : ये मुजफ्फरपुर है बाबू। यहां मौत चुपके से नहीं बल्कि बोलकर यानि सूचना देकर आती है। आवेदन या निवदेन का यहां को कोई मायने मतलब नहीं है। मतलब इस तरह से समझिये। जब एक बैचेन बाप और परिवार अपने बेटे के अपहरण के बाद पुलिस को आवेदन देता है। हुजूर मेरे बेटे का अपहरण कर लिया गया है। उसके साथ किसी भी समय कोई अनहोनी हो सकती है। लेकिन विडम्बना देखिए आदतन आवेदन और निवदेन को ठेंगे पर रखने की आदी हो चुकी पुलिस को कोई फर्क तो नहीं पड़ा, लेकिन एक मां की जहां गोद सुनी हो गई, वहीं एक बाप बेऔलाद हो गया। अपह्त बेटे की लाश बाप को मिल गई है, सरकारी खानापूर्ति का काम जारी है। आगे भी जारी रहेगी। लेकिन क्या सुशासन के नाम पर पुलिस की यह कर्तव्यहीनता माफी योग्य है? 

एक बुजर्ग बाप के कंधे पर जवान बेटे की अर्थी का अर्थ पता नहीं कितना समझ पायेगी मुजफ्फरपुर पुलिस, लेकिन उसकी वेदना सिर्फ मुजफ्फरपुर के लोगों को नहीं बल्कि पूरे बिहार के लोगों को  प्रतिदिन झकझोरती है। चूकि सुशासन में इस तरह की बातें आम हो चुकी है। बर्दी वाले बाबू बेदर्द मत बनिए। लोगों को पता है कि कानून का एकबाल कायम रहता है तो अपराधियों की इतनी औकात नहीं कि वे गुनाह करने की सोचें। लेकिन इतना तय है कि कानून का इकबाल और बर्दी का रौब बेगैरत हो चुका है और उसका परिणाम इस तरह की घटनाओं के रुप में सामने आ रहा है।    

इस पूरे घटनाक्रम को इस तरह से समझिए मुजफ्फरपुर जिले के पुलिस पर एक बार फिर सवालिया निशान खड़ा हो गया। जिस अनहोनी का डर परिजनों को था आखिर वही हुआ। 

मामला जिले के हथौड़ी थाना क्षेत्र की है। जहां पुलिस द्वारा कार्यवाई नही करने के कारण एक युवक की जान चली गई है। 

दरअसल हथौड़ी थाना क्षेत्र के सहवाजपुर से एक युवक का बीते 21 अगस्त को अपहरण हुआ था। परिजनों ने मामले को लेकर थाने में नामजद आवेदन देते हुए अनहोनी की आशंका जताई थी, लेकिन पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई और अब उस युवक की लाश बरामद हुई है। 


बता दें  बीते 21 अगस्त को हथौड़ी थाना पुलिस को दो लोगो के खिलाफ नामजद आवेदन देकर सहवाजपुर निवासी गगन सहनी ने अपने पुत्र वीरेंद्र सहनी का जमीनी विवाद में गायब होने और हत्या की आशंका की गुहार लगायी थी। आवेदन में जो सब कुछ आशंका थी वैसा ही अंजाम हुआ। लेकिन मुज़फ़्फ़रपुर ज़िले के हथौड़ी थाना पुलिस की कान पर जू न बैठी।

आज जिले के अहियापुर थाना क्षेत्र के सिमराहा स्थित खेत से उस युवक की शव को पुलिस ने स्थानीय लोगों की सूचना पर बरामद किया है।  

शव मिलने के बाद मृतक के घर में कोहराम मचा हुआ है। परिजन बस एक ही बात कह रहे है कि समय रहते पुलिस द्वारा कार्रवाई की गई होती तो आज उनका बेटा उनके बीच होता। 


मुजफ्फरपुर से मनोज कुमार की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News