यही है लोकतंत्र की खूबसूरती : जिस सीट पर सबसे अमीर राज्यसभा सदस्य का हुआ था चयन, उसकी जगह साधारण सा कार्यकर्ता पहुंचा राज्यसभा

यही है लोकतंत्र की खूबसूरती : जिस सीट पर सबसे अमीर राज्यसभा सदस्य का हुआ था चयन, उसकी जगह साधारण सा कार्यकर्ता पहुंचा राज्यसभा

PATNA : राज्यसभा सदस्य किंग महेंद्र के निधन के बाद से रिक्त पड़ी सीट पर अनिल हेगड़े निर्विरोध चुन लिए गए हैं। सोमवार को जदयू उम्मीदवार को किसी से चुनौती नहीं मिली और उन्हें निर्विरोध राज्यसभा के लिए निर्वाचित करने की घोषणा की गई। बिहार विधानसभा के सचिव ने उन्हें राज्यसभा के लिए निर्वाचित होने पर सर्टिफिकेट दिया।  हेगड़े का कार्यकाल दो अप्रैल-2024 तक है। 

सीएम का जताया आभार

राज्यसभा के लिए चुने जाने के बाद अनिल हेगड़े ने अनिल हेगड़े ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष ललन सिंह के प्रति आभार प्रकट किया। अनिल हेगड़े ने कहा कि जॉर्ज फर्नांडिस जैसे संघर्षशील नेता के साथ काम करने का गौरव प्राप्त हुआ है।  

वहीं इस मौके पर बिहार सरकार के मंत्री श्रवण कुमार ने कहा कि नीतीश कुमार ने ऐसे व्यक्ति को राज्यसभा भेजा है जिनका जीवन संघर्ष से जुड़ा रहा है. जदयू कार्यालय में 12 वर्ष रहकर पार्टी के कार्यक्रमों को आगे बढ़ाया है. अनिल हेगड़े पहले की तरह आगे भी काम करते रहेंगे.

4,250 बार गिरफ्तारी दे चुके हैं अनिल

गौरतलब है कि महेंद्र प्रसाद यानी किंग महेंद्र के निधन से यह सीट रिक्त हुई थी। ऐसे में जदयू ने अनिल हेगड़े को अपना प्रत्याशी बनाया था। अनिल जदयू कार्यालय में ही पिछले 12 साल से रहते हैं। यहीं खाते हैं और यहीं पर सो जाते हैं। दिल्ली के संसद भवन थाने में अनिल 4,250 बार गिरफ्तारी दे चुके हैं। अनिल ने शादी भी नहीं की है। अनिल हेगड़े समता पार्टी और जदयू का राष्ट्रीय महासचिव रह चुके हैं।


Find Us on Facebook

Trending News