हॉट सीट बन गया का यह पंचायत : यहां गोलियों के शिकार पैक्स अध्यक्ष की विधवा को चुनौती दे रहीं हैं हत्या में शामिल दो आरोपियों की पत्नी

हॉट सीट बन गया का यह पंचायत : यहां गोलियों के शिकार पैक्स अध्यक्ष की विधवा को चुनौती दे रहीं हैं हत्या में शामिल दो आरोपियों की पत्नी

GAYA : बिहार पंचायत चुनाव में जल्द ही आठवें चरण के चुनाव होने हैं, जिसको लेकर प्रत्याशियों द्वारा चुनाव प्रचार तेज कर दिया गया है। इन सबके बीच गया जिले का एक पंचायत ऐसा भी है, जो फिलहाल हॉट सीट बन गया है। ऐसा इसलिए है कि क्योंकि यहां तीन ऐसी महिला प्रत्याशी मैदान में हैं, जिनमें एक के पति की कुछ माह पहले हत्या हो गई थी, वहीं दो महिलाएं ऐसी हैं, जिनके पति पर उस हत्या के आरोप लगे हैं। अब यह दोनों महिलाएं अपने पति को बेगुनाह बताते हुए लोगों से वोट मांग रही हैं। 

मामला गया के नैली पंचायत का है,  जहां के पैक्स अध्यक्ष संतेंद्र यादव की कुछ माह पहल गया एयरपोर्ट के पास हत्या कर दी गई थी। अब संतेंद्र यादव की पत्नी सरिता देवी यहां से मुखिया चुनाव के मैदान में हैं। वहीं इस हत्या का आरोप वरूण यादव और श्रीकांत यादव उर्फ मल्लू यादव पर लगा। अब पति पर लगे आरोपो के बाद इन दोनों की पत्नी सत्येंद्र यादव की विधवा सरिता देवी को चुनौती दे रही हैं। 


पति पर लगे आरोपों को बताया गलत, सरिता देवी पर लगाए आरोप

वरुण देवी की पत्नी व मुखिया प्रत्याशी रेणू देवी अपने आवास पर प्रेस वार्ता कर गुहार लगाया है. प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए कहां कि सत्येंद्र यादव हत्याकांड में मेरे पति वरुण यादव को राजनीतिक साजिश के तहत फंसाया गया था। इस कांड के उद्भेदन वरीय पुलिस अधीक्षक के द्वारा किया गया था जिसमें निर्दोष साबित किए गए थे. इस बार हम मुखिया पद से चुनाव लड़ रही हूं जिसमें चुनाव प्रचार के दौरान मुखिया प्रत्याशी सरिता देवी के समर्थकों के द्वारा हमेशा लड़ने एवं चुनावी माहौल बिगाड़ने की कोशिश की जा रही है. नैली पंचायत के पैक्स अध्यक्ष सत्येंद्र यादव की मुखिया प्रत्याशी सरिता देवी पत्नी है इनके समर्थकों के द्वारा पुलिस पर जानलेवा हमला किया गया था और 2 दिन पहले एक मुखिया प्रत्याशी को चुनाव प्रचार करने से भी रोका गया. मगध मेडिकल थाना के कांड संख्या 241/21 के अभियुक्त है फिर भी इन लोगों की गिरफ्तारी नहीं होने से आश्चर्य की बात है. 

साथ ही उन्होंने कहा कि मगध मेडिकल थाने के द्वारा 237/21 केस में मेरे घर पर आकर यह कहा गया कि सरेंडर करवाओ नहीं तो पूरे परिवार को उठा ले जाएंगे। जबकि 26 अक्टूबर को एसएसपी के द्वारा इस कांड का उद्भेदन किया जा चुका है और उसमें मेरे पति को निर्दोष साबित किया गया है। उन्होंने कहा कि मुखिया प्रत्याशी रेनू देवी ने कहा कि इन लोगों को चुनाव में रहते हुए निष्पक्ष चुनाव करवाना नामुमकिन जैसा लग रहा है।

मल्लू यादव की पत्नी ने कहा मेरे पति निर्दोष हैं

चुनाव में दूसरे आरोपी श्रीकांत यादव उर्फ मल्लू यादव की पत्नी स्मृति रॉय भी प्रत्याशी बनी हैं। पति पर लगे आरोपों को लेकर मुखिया पद उमीदवार स्मृति रॉय ने प्रेस वार्ता कर बताया कि मामले की उच्च जांच के जिले के कई अधिकारियों से मिलकर न्याय की गुहार लगा चुकी हूँ, लेकिन अभी तक कुछ नही हुआ है। चुनाव प्रचार के दौरान मुझे कई गांवों में राजनीतिक लोगों के द्वारा घुसने नही दिया जा रहा है। इसको लेकर भी हमने अधिकारियों से गुहार लगाई क्योंकि हमने एवं हमारे परिवार के सदस्यों के द्वारा कई बार मुखिया पद होते हुए पंचायत की जनता की सेवा किए हैं। हम जिला प्रशासन से मांग करते है कि मामले की सही एवं उच्च जांच हो और हमारे पति जो निर्दोष है उसे न्याय मिले।

Find Us on Facebook

Trending News