औचक छापेमारी के बाद सरकार की बड़ी कार्रवाई, लापरवाही और कर्त्तव्यहीनता के आलोक में तीन सहायक जेल अधीक्षक निलंबित

औचक छापेमारी के बाद सरकार की बड़ी कार्रवाई, लापरवाही और कर्त्तव्यहीनता के आलोक में तीन सहायक जेल अधीक्षक निलंबित

PATNA :  मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के निर्देश पर एक साथ पूरे बिहार के जेलों में औचक छापेमारी का असर दिखने लगा है। बिहार सरकार ने लापरवाही एवं कर्त्तव्यहीनता के आलोक में तीन सहायक अधीक्षक को निलंबित कर दिया है। मुंगेर मंडल कारा के सहायक जेल अधीक्षक निर्मल कुमार प्रभात, मधुबनी के दिनेश ठाकुर, और बेतिया के मिथिलेश कुमार को निलंबित किया गया है। 

छापेमारी में मुंगेर जेल से 14 मोबाइल,4 सीमा,14 चार्जर,गांजा सिगरेट और कई आपत्तिजनक सामना मिला था। मधुबनी जेल में 33 मोबाइल,4 सीम,18 चार्जर और गांजा बरामद हुआ था। वही बेतिया मंडल कारा में 16 मोबाइल ,13 सिम कार्ड,एवं अन्य आपत्तिजनक सामान मिला था।

  जेल प्रशासन ने  इसको लापरवाही और कर्त्तव्यहीनता करार देते हुए सभी को निलंबित कर दिया है। आगे अभी और अधिकारियों पर करवाई की तलवार लटकी है। कारा एंव सुधार सेवाएं के महानिरीक्षक ने प्रेस रिलीज जारी कर इसकी जानकारी  दी है।

Find Us on Facebook

Trending News