तीर छोड़ हाथ थामेंगे पूर्व विधायक, टिकट एडजस्टमेंट के लिए ऋषि मिश्रा बदल रहे पाला

PATNA : जेडीयू के युवा नेता और पूर्व विधायक ऋषि मिश्रा अब तीर छोड़ कर हाथ थामने जा रहे हैं। ऋषि मिश्रा शनिवार को कांग्रेस में शामिल होंगे। दरभंगा के जाले विधानसभा सीट से एक बार विधायक रहे ऋषि मिश्रा ने चुनावी टिकट एडजस्टमेंट के लिहाज से पाला बदलने का फैसला लिया है।

ऋषि मिश्रा विधानसभा उपचुनाव में तब विधायक चुने गए थे जब जेडीयू बीजेपी के साथ नहीं था। 2015 के विधानसभा चुनाव में जाले विधानसभा सीट पर ऋषि मिश्रा महागठबंधन के उम्मीदवार थे और उन्हें बीजेपी उम्मीदवार जीवेश मिश्रा ने पटखनी दी थी। ऋषि मिश्रा की राजनीति उस वक़्त संकट में आ गई जब जेडीयू - बीजेपी फिर से गठबंधन हो गया। ऐसे में जाले विधानसभा सीट पर ऋषि मिश्रा की दावेदारी एनडीए में रहते हुए नामुमकिन थी। लिहाजा अब उन्होंने कांग्रेस का हाथ थामने का फैसला किया है। 


ऋषि मिश्रा कांग्रेस के पूर्व रेल मंत्री स्वर्गीय ललित नारायण मिश्रा के पौत्र हैं। ऋषि मिश्रा के पिता विजय मिश्रा फिलहाल जेडीयू के एमएलसी हैं। खास बात  है कि ऋषि मिश्रा अपने दादा स्वर्गीय ललित नारायण मिश्रा की जयंती के मौके पर कांग्रेस में शामिल हो रहे हैं।

Find Us on Facebook