टिकट नहीं मिलने पर भाजपा नेत्री का छलका दर्द, मंच पर फूट-फूटकर रोई, निर्दलीय लड़ने का किया ऐलान

टिकट नहीं मिलने पर भाजपा नेत्री का छलका दर्द, मंच पर फूट-फूटकर रोई, निर्दलीय लड़ने का किया ऐलान

BETTIAH : बिहार का सियासी पारा अब गर्म होने लगा है. लेकिन टिकट से वंचित लोगों की नाराजगी थमने का नाम नहीं ले रहा है. ऐसा ही एक मामला बेतिया में सामने आया है. जहाँ भाजपा की बागी नेत्री रेणु देवी पार्टी के फैसले से इतनी आहत हुई की भरी सभा में हीं फूट फूट कर रोने लगी. जिसके बाद वहां मौजूद महिला कार्यकर्ताओं ने रेणु देवी को ढ़ाढ़स बंधाया और भाजपा नेत्री को किसी तरह चुप कराया. 

जिसके बाद नरकटियागंज के एक निजी होटल में बागी पूर्व विधानसभा प्रत्याशी रेणु देवी ने संवाददाता सम्मेलन कर निर्दलीय चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी. इस दौरान भारी संख्या में बीजेपी के कार्यकर्ता मौजूद रहे. कार्यकर्ताओं के बल पर रेणु देवी निर्दलीय चुनाव लड़ने का हुंकार भर चुकी है और रेणु देवी जब भरी सभा मे बोलना शुरू की तो उनकी आंखों से आंसू छलकने लगे. 

उन्होंने बताया कि कई सालों से मैंने बीजेपीके लिए  धरातल पर काम किया है. बीजेपी के लिए मैं कंधा से कंधा मिलाकर चली हूँ. लेकिन आज बीजेपी ने मेरे साथ धोखा देकर रश्मि वर्मा को टिकट दे दिया है. जिससे मैं बहुत ही आहत हुई हूँ. रेणु देवी को रोता देख कार्यकर्ताओं ने एक स्वर में साथ देने का वादा किया. वहीं बीजेपी की पूर्व विधानसभा प्रत्याशी  रेणु देवी ने बताया कि जब मैं पिछले विधानसभा चुनाव में बीजेपी से चुनाव लड़ रही थी. उस समय रश्मि वर्मा ने निर्दलीय चुनाव लड़कर अपने भसुर कांग्रेस प्रत्याशी विनय वर्मा को जिताने का काम किया. 

साथ हीं बीजेपी ने उस चुनाव के दौरान निर्णय लिया था कि रश्मि वर्मा को छः साल के लिए पार्टी से निष्कासित किया है. लेकिन अभी पांच साल हुए फिर भी बीजेपी ने रश्मि वर्मा को पार्टी में शामिल कर लिया है. उन्होंने कहा की जिसने पिछले चुनाव में बीजेपी को हराने का काम किया. उसे प्रत्याशी बना कर मैदान में उतारा है. जिससे नरकटियागंज विधानसभा के सभी बीजेपी कार्यकर्ताओं में नाराजगी है. 

बेतिया से आशीष कुमार की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News