किसान आंदोलन का आज एक वर्ष पूरा, सेलिब्रेट करने के लिए SKM पूरे देश में करेगा प्रदर्शन

किसान आंदोलन का आज एक वर्ष पूरा, सेलिब्रेट करने के लिए SKM पूरे देश में करेगा प्रदर्शन

Desk. आज किसान आंदोलन का एक वर्ष पूरा हो रहा है. आज ही के दिन 26 नवंबर 2020 को संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों ने तीन कृषि कानून के खिलाफ आंदोलन शुरू किया था. बताया जा रहा है कि आंदोलन के एक वर्ष पूरे होने पर किसान संगठन इसका सेलिब्रेट करेंगे. हरियाणा, पंजाब और पश्चिमी यूपी से किसान दिल्ली बॉर्डर पर जुटने लगे हैं. संयुक्त किसान मोर्चा आज पूरे देश में प्रदर्शन करेगा. इसको लेकर पुलिस-प्रशासन आलर्ट हो गया है. दिल्ली पुलिस की ओर से गाजीपुर बॉर्डर पर दोबारा से बैरिकेडिंग की गई है और जवानों की तैनाती भी बढ़ा दी गई है.

नए कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले एक साल से आंदोलन कर रहे किसानों ने साफ कर दिया है कि अभी वे बॉर्डर से हटने वाले नहीं हैं. उन्होंने साफ कर दिया है कि 29 नवंबर से शुरू होने जा रहे संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान वे अपने पहले से तय कार्यक्रम के अनुसार ही विरोध प्रदर्शन जारी रखेंगे. किसान नेता राकेश टिकैत ने गुरुवार कहा कि हम पीएम मोदी से अपील करना चाहते हैं कि एमएसपी हमेशा से हमारा मुद्दा रहा है. ऐसे में हमारा दिल्ली बॉर्डर छोड़ने का कोई इरादा नहीं है.

29 नवंबर को दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च

भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता राकेश टिकैत ने कहा कि 27 नवंबर को बैठक होगी और हम आगे की योजना बनाएंगे. 29 नवंबर को दिल्ली में ट्रैक्टर मार्च का आयोजन होगा. टिकैत ने कहा हम पीछे हटने वाले नहीं है और सरकार को गारंटी देनी ही होगी. किसान संगठन इस बात पर अड़े हुए हैं कि संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान रोज 500 किसान ट्रैक्टर ट्रॉली पर सवार होकर संसद तक मार्च करेंगे और अपना विरोध जताएंगे.

कृषि कानून को वापस लेने का ऐलान

बता दें कि किसानों के बढ़ते विरोध और आंदोलन के चलते प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नाम संबोधन में तीनों कृषि कानून को वापस करने का ऐलान किया था. इसके बाद भी किसान संगठन आंदोलन खत्म करने के लिए तैयार नहीं है. किसान संगठन की मांग है कि केंद्र सरकार द्वारा एमएसपी का कानून बनाया जाए और एक कमेटी बनाई जाए, जिससे किसान की समस्या होने पर कमेटी सरकार से बात करेगी.


Find Us on Facebook

Trending News