TOKYO OLYMPICS: गोल्फ में अदिति की लंबी छलांग, 41 से सीधे चौथे रैंक पर पहुंची, 1 स्ट्रोक से मेडल जीतने का मौका फिसला

TOKYO OLYMPICS: गोल्फ में अदिति की लंबी छलांग, 41 से सीधे चौथे रैंक पर पहुंची, 1 स्ट्रोक से मेडल जीतने का मौका फिसला

DESK: टोक्यो ओलंपिक के आखिरी दिन भी भारतीय खिलाड़ियों का बेहतरीन प्रदर्शन जारी है। इस साल सबका ध्यान कुश्ती, बैडमिंटन, और भारोत्तोलन पर था, मगर सोने की तरह चमके नीरज चोपड़ा, अदिति अशोक औऱ हॉकी के खिलाड़ी। शनिवार को सबका ध्यान खींचा भारतीय महिला गोल्फ खिलाड़ी अदिति अशोक ने, जिन्होनें फाइनल में अपनी जगह तो पक्की कर ली थी। हालांकि महज एख स्ट्रोक से वह पीछे रह गई थी, और खेल के अंत में वह चौथे स्थान पर रहीं।

अमेरिकी खिलाड़ी ने जीता गोल्ड

अमेरिका की नैली कोर्दा ने गोल्ड मेडल जीता। अब सिल्वर और ब्रॉन्ज मेडल के लिए जापान की मोनी इनामी और न्यूजीलैंड की लेडिया को के बीच मुकाबला होगा। हालांकि भारत की युवा गोल्फर ओलंपिक में इतिहास रचने से चूक गईं, मगर उनके बेहतरीन प्रदर्शन पर देश ने उनको सराहा, और काफी हौसला अफजाई भी की। वह महिला व्यक्तिगत स्ट्रोक प्ले में चौथे स्थान पर रहीं। अदिति शुक्रवार को खत्म हुए तीसरे राउंड के बाद दूसरे स्थान पर थीं। अदिति शनिवार को चौथे राउंड में टॉप-4 में बनी हुई थीं। अदिति 13वें होल तक दूसरे स्थान पर चल रही थीं लेकिन आखिरी पांच होल में वह जापान की मोने इनामी और न्यूजीलैंड की लीडिया से पिछड़ गईं। चौथे राउंड में अदिति अशोक ने तीन अंडर 69 का कार्ड खेला। मुकाबले की बात करें तो अदिति 15 अंडर 269 स्कोर के साथ चौथे स्थान पर रहीं।

5 साल की उम्र से ही गोल्फ खेल रही हैं अदिति

अदिति अशोक का जन्म 29 मार्च 1998 को बेंगलुरु में हुआ था। उन्होंने 5 साल की उम्र से ही गोल्फ खेलना शुरू कर दिया था। अदिति को परिवार से पूरा समर्थन मिला है। आमतौर पर उनकी मम्मी या पापा ही कैडी की भूमिका निभाते हैं। गोल्फ में गोल्फर का किट बैग जो शख्स संभालता है उसे कैडी कहते हैं। ओलिंपिक में अदिति मां के साथ गई हैं।

अर्जुन अवार्ड सहित अन्य उपलब्धियों से हैं सम्मानित

अदिति पहली भारतीय महिला गोल्फर हैं जिन्होंने एशियन यूथ गेम्स (2013), यूथ ओलिंपिक गेम्स (2014), एशियन गेम्स (2014) में हिस्सा लिया है। वे लल्ला आइचा टूर स्कूल का टाइटल जीतने वाली सबसे कम उम्र की भारतीय भी हैं। इस जीत की वजह से उन्हें 2016 सीजन के लिए लेडीज यूरोपियन टूर कार्ड के लिए एंट्री मिली थी। 2017 में वे भारत की पहली महिला प्रोफेशनल गोल्फर बनी थीं। दुनिया भर में महिला गोल्फ सर्किट पर शानदार प्रदर्शन के बाद उन्हें भारत सरकार ने साल 2020 मेंअर्जुन अवार्डसे सम्मानित किया था।

माननीयों ने ट्वीट कर की हौसला अफजाई

गोल्फ में देश का नाम ऊंचा करने के बाद अदिति अशोक सेलेब्रिटी बन चुकी हैं। उनके प्रदर्शन के बाद से राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित सभी मंत्रियों और खेल और अन्य सितारों ने उनके लिए ट्वीट भी किए हैं।







Find Us on Facebook

Trending News