TOKYO OLYMPICS: पहली बार ओलंपिक रिंग में उतरी लवलीना में ब्रॉन्ज पर जमाया मुक्का, अगली बार पेश करेंगी कड़ी दावेदारी

TOKYO OLYMPICS: पहली बार ओलंपिक रिंग में उतरी लवलीना में ब्रॉन्ज पर जमाया मुक्का, अगली बार पेश करेंगी कड़ी दावेदारी

DESK: पहली बार ओलंपिक खेल रहीं 23 साल की भारतीय महिला बॉक्सर लवलीना बोरगोहेन ने सेमीफाइनल मुकाबला हारने के बावजूद इतिहास लिख दिया। लवलीना को 69 किलो वर्ग के सेमीफाइनल में तुर्की की मौजूदा विश्व चैंपियन बुसेनाज सुरमेनेली ने 5-0 से हराया। असम की 23 वर्षीय लवलीना बॉक्सिंग में ब्रॉन्ज मेडल जीतने वाली तीसरी भारतीय खिलाड़ी हैं। लवलीना की हार के साथ ही बॉक्सिंग में भारतीय चुनौती समाप्त हो गई। टोक्यो ओलंपिक में भारत की तरफ से मुक्केबाजी में सिर्फ लवलीना ही पदक जीतने में कामयाब रहीं।

भले ही उन्हें अपने मुकाबले में हार का सामना करना पड़ा हो, मगर इतिहास में उनका नाम दर्ज हो चुका है, साथ ही उन्होनें ब्रॉन्ज भी जीत लिया है। ऐसा करने वाली वह दूसरी महिला बॉक्सर हैं, इससे पहले 2012 में मेरीकॉम ने ब्रॉन्ज जीता था। 69 किलो वर्ग कैटेगरी के इस मुकाबले में लवलीना वर्ल्ड नंबर वन तुर्की की बुसेनाज सुरमेली के खिलाफ लड़ रही थीं। उम्र और अनुभव का अंतर साफ नजर आया, पर बुसेनाज को लड़खड़ा देने वाले लवलीना के कुछ मुक्कों ने बता दिया कि अगली बार के लिए उम्मीदें सुनहरी हैं।

टोक्यो खेलों में यह भारत का तीसरा पदक है। इससे पहले भारोत्तोलन में मीराबाई चानू ने रजत जबकि बैडमिंटन में पीवी सिंधु ने कांस्य पदक जीता। लवलीना का पदक पिछले नौ वर्षों में भारत का ओलंपिक मुक्केबाजी में पहला पदक है। लवलीना ओलंपिक मुक्केबाजी प्रतियोगिता फाइनल में जगह बनाने वाली पहली भारतीय मुक्केबाज बनने के लिए चुनौती पेश कर रही थीं, लेकिन विश्व चैंपियन बुसेनाज ने उनका सपना तोड़ दिया। भारतीय मुक्केबाज के पास तुर्की की खिलाड़ी के दमदार मुक्कों और तेजी का कोई जवाब नहीं था। इस बीच हड़बड़ाहट में भी लवलीना ने गलतियां की। क्वार्टर फाइनल में लवलीना हालांकि चीनी ताइपै की पूर्व विश्व चैंपियन नीन चिन चेन को हराकर पहले ही पदक पक्का कर चुकी थीं।

हालांकि ओलंपिक में शामिल होना और भारत जैसे बड़े देश का प्रतिनिधित्व करना अपने आप में चुनौतीपूर्ण है। ब्रॉन्ज जीतने के साथ ट्विटर पर लवलीना के लिए बधाइयों- शुभकामनाओं का तांता लग गया। राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री हर सहित हर खास-ओ-आम ने लवलीना को बधाई दी और उनकी उपलब्धि पर गर्व किया।




Find Us on Facebook

Trending News