यातायात नियम तोड़ने वाले हो जाएं सावधान... बिहार में शुरू हुआ सड़क सुरक्षा सप्ताह, यह सब करना पड़ेगा भारी

यातायात नियम तोड़ने वाले हो जाएं सावधान... बिहार में शुरू हुआ सड़क सुरक्षा सप्ताह, यह सब करना पड़ेगा भारी

पटना. बिहार सड़क सुरक्षा परिषद् की ओर से 11 से 17 जनवरी तक सड़क सुरक्षा सप्ताह का आयोजन किया जायेगा। इस दौरान सभी जिलों में हर दिन जागरुकता कार्यक्रमों के साथ विशेष वाहन जांच अभियान चलाया जायेगा। लोगों को जागरूक करने के लिए विभिन्न कॉलेजों, एनसीसी, ऑटो एसोसिएशन, ऑटो मोबाइल कंपनियों एवं विभिन्न विभागों द्वारा विशेष जागरुकता कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। 

परिवहन सचिव सह सदस्य सचिव बिहार सड़क सुरक्षा परिषद् पंकज कुमार पाल ने बताया कि आम लोगों एवं वाहन चालकों को सुरक्षित ड्राइविंग के लिए विभिन्न माध्यमों से जागरुक किया जायेगा। उन्हें सड़क सुरक्षा के नियमों एवं प्रावधानों से अवगत कराया जायेगा। वाहन चलाते समय यातायात नियमों की अनदेखी एवं लापरवाही से अक्सर सड़क दुर्घटनाएं होती हैं। सड़क दुर्घटनाओं एवं उसके फलस्वरुप मृत्यु में कमी लाने की दिशा में राज्य सरकार लगातार प्रयासरत है।

गोल्डेन आवर में सड़क दुर्घटना पीड़ितों को अस्पताल पहुंचाया जा सके इसके लिए गुड सेमेरिटन को प्रोत्साहित करने के लिए पुरस्कृत किया जा रहा है। सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान ऐसे गुड सेमेरिटन को पुरस्कृत करने का निर्देष दिया गया है। सड़क दुर्घटना पीड़ितों को ससमय अस्पताल पहुंचाने पर दुर्घटनाग्रस्त व्यक्ति का जीवन बच सकता है। 

राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी ने बताया कि सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान बस, ऑटो और ट्रक के वाहन चालकों के लिए सामान्य स्वास्थ्य जांच के साथ नेत्र जांच शिविर का आयोजन किया जाएगा। जांच के बाद जरूरतमंद ड्राइवर के बीच चश्मा का वितरण किया जाएगा। वाहन चालकों की चालन क्षमता बढ़ाने हेतु ड्राइवर रिफ्रेशर ट्रेनिंग दी जायेगी। यह ट्रेनिंग सड़क सुरक्षा सप्ताह के दौरान 14 जनवरी को जिलों में दी जायेगी। निःशुल्क ड्राइवर रिफ्रेशर ट्रेनिंग के लिए इच्छुक ड्राइवर जिला परिवहन कार्यालय से संपर्क कर सकते हैं। 

आम लोगों को सड़क सुरक्षा के प्रति संवेदनशील बनाने एवं जागरुक करने के लिए सड़क सुरक्षा पर आधारित नुक्कड़ नाटकों का प्रदर्शन किया जायेगा। नुक्कड़ नाटकों का प्रदर्शन ऑटो स्टैंड, बस स्टैंड, कॉलेज परिसर आदि में किया जायेगा। आमजनों को यातायात के नियमों एवं प्रावधानों से अवगत कराने तथा जागरुक करने के लिए माइकिंग के माध्यम से व्यापक रुप से प्रचार-प्रसार किया जायेगा। इसके साथ ही जागरुकता वैन में ऑडियो-वीडियो के माध्यम से लोगों को जागरुक किया जायेगा। सोशल मीडिया एवं अन्य माध्यमों से भी जिलों में जागरूकता अभियान चलाया जायेगा।

यातायात नियमों का पालन सुनिष्चित कराने के लिए एनएच/एसएच पर विषेष वाहन जांच अभियान का आयोजन किया जायेगा। हर दिन अलग-अलग थीम पर जांच अभियान चलाया जायेगा। हेलमेट-सीटबेल्ट, ओवर स्पीडिंग, नाबालिग द्वारा वाहन चालन, ट्रिपल राइडिंग, वाहन चलाते समय मोबाइल का उपयोग, ओवरलोडिंग, वाहनों पर रिफ्लेक्टिव टेप का अधिष्ठापन इत्यादि की जांच की जायेगी। विशेष जांच अभियान के दौरान यातायात एवं मोटर वाहन अधिनियमों का उल्लंघन करने वाले उल्लंघनकर्ताओं पर कार्रवाई की जायेगी।


Find Us on Facebook

Trending News