वीटीआर में कीमती लकड़ियों की तस्करी : सागवान के साथ पिकअप का चालक गिरफ्तार

वीटीआर में कीमती लकड़ियों की तस्करी : सागवान के साथ पिकअप का चालक गिरफ्तार

 BAGAHA : गुरुवार की रात वाल्मीकि टाइगर रिज़र्व के गनौली वनक्षेत्र में एक पिकअप बरामद किया गया है. इस पिकअप पर सागवान की पाँच गुल्लियाँ लदी थी. सभी गुल्लियाँ 18 साल से ऊपर की बताई जा रही है. गुल्लियों को बरामद करने के बाद चालक को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है. चालक की गिरफ्तारी के बाद पिकअप के मालिक पर भी मामला दर्ज किया गया है. उसकी गिरफ्तारी के बाद लकड़ी तस्करी से जुड़े बड़े नेटवर्क का खुलासा हो सकता है.

 विटीआर का दावा है कि मामले का खुलासा होने पर कई सफेदपोश जेल के अन्दर हो सकते हैं. आपको बताते चलें की वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के वनक्षेत्रों में वन तस्करों का आतंक है. यह कम होने का नाम नहीं ले रहा है. यहाँ कभी वनकर्मियों और तस्करों में भिड़ंत तो कभी वनकर्मियों पर हमला करने की घटना सामने आती है. गुरुवार की रात वन तस्कर पिकअप पर लकड़ी लादकर ठिकाने पर पहुंचाने ले जा रहे थे. पिकअप के साथ लकड़ी और चालक को गनौली वनक्षेत्र के वनकर्मियों की टीम ने धर दबोचा. 

इस संबंध में जानकारी देते हुए गोनौली के प्रशिक्षु आईएफएस चंचल प्रकाशन ने बताया कि गुरुवार की रात गुप्त सूचना मिली कि वन तस्करों का समूह शिवनाहां गांव के बगीचे से सागवान की गुल्ली पिकअप पर लादकर तय जगह पर पहुंचाने जा रहा है. इस पर त्वरित कार्रवाई करते हुए वनपाल, वनरक्षी और सशस्त्र बलों के साथ उस पिकअप का पीछा किया गया. सुरक्षा के दृष्टिकोण से हरनाटांड़ वन क्षेत्र के वनकर्मियों की भी सहायता ली गई. जिसमें सफलता हाथ लगी और पिकअप का पीछा करते हुए 

आखिरकार उसे दोन नहर के लौकरिया थाना क्षेत्र के छत्रौल गांव में धर दबोचा गया. यहां से पिकअप के साथ उसपर लदे 5 सागवान की लकड़ी को जब्त कर एक चालक को गिरफ्तार किया गया. गिरफ्तार चालक की पहचान लौकरिया थाना क्षेत्र के हरनाटांड़ निवासी शहजाद आलम के रूप में कई गई है. गिरफ्तार चालक की निशान देही पर पिकअप मालिक की पहचान कर नामजद करते हुए वन अपराधियों के विरूद्ध वाइल्ड लाइफ एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है. शुक्रवार को पूछताछ और जांच पड़ताल के बाद गिरफ्तार पिकअप चालक को न्यायिक हिरासत में बगहा जेल भेज दिया गया. वहीं इस संबंध स्थानीय रेंजर अवधेश प्रसाद सिंह ने बताया कि लकड़ी के धंधा में लिप्त वन अपराधियों कि पहचान हो गई है. 

सभी वन अपराधी लौकरिया थाना के हरनाटांड़ निवासी हैं. जो अवैध रूप से लकड़ी कारोबार में जुड़े हुए हैं. वन क्षेत्र अधिकारी ने कार्रवाई प्रभावित होने के कारण वन अपराधियों का नाम बताने से इंकार किया है. उन्होंने बताया कि इससे पूर्व भी बीते 7 फरवरी को 18 साल की गुल्ली के साथ एक पिकअप को जब्त किया गया था. जिसपर नामजद कार्रवाई भी की गई थी. इसके बावजूद वन तस्करों में विटीआर प्रशासन को लेकर जरा सा भी खौफ नहीं है. इसका प्रमुख कारण है कि इसमें बड़े बड़े नाम जुड़े हुए हैं.कहा जा रहा है की इस नेटवर्क का तार हरनाटांड़, लौकरिया, बगहा से लेकर रामनगर और बेतिया तक जुड़ा है.

बगहा से माधवेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News