पुलिस के पदाधिकारियों और जवानों की ट्रेनिंग के दौरान नहीं लगेगी ड्यूटी, मुख्यालय ने जारी किया आदेश

पुलिस के पदाधिकारियों और जवानों की ट्रेनिंग के दौरान नहीं लगेगी ड्यूटी, मुख्यालय ने जारी किया आदेश

PATNA : बिहार पुलिस में जाने के बाद जवानों और पदाधिकारियों को तक़रीबन एक साल की ट्रेनिंग दी जाती है. लेकिन ट्रेनिंग के दौरान ही उन्हें त्योहार और आपदा के समय के प्रतिनियुक्त कर दिया जाता है. जिससे उनके ट्रेनिंग की अवधि बढकर दो साल तक हो जाती है. इसके बाद भी इन्हें कई बार ट्रेनिंग में भेजा जाता है. लेकिन अब बिहार में अब ट्रेनिंग के दौरान पुलिस अधिकारियों और जवानों की ड्यूटी नहीं लगेगी. 

विधि-व्यवस्था से जुड़ा कार्य हो या किसी दूसरे काम में भी उन्हें नहीं लगाया जाएगा. मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने पिछले महीने विधि-व्यवस्था की समीक्षा की थी, साथ ही उनके द्वारा एसएसपी, एसपी, रेंज आईजी-डीआईजी को संबोधित किया गया था. उसी दौरान यह निर्णय लिया गया था कि ट्रेनिंग कर रहे पुलिस अधिकारियों और जवानों को ड्यूटी पर नहीं लगाया जाएगा. अब पुलिस मुख्यालय ने इसका आदेश जारी कर दिया है. 

नए आदेश के बाद पुलिस अधिकारी और जवान बेसिक ट्रेनिंग कर रहे हैं तो किसी भी कीमत पर उनकी ड्यूटी नहीं लगाई जाएगी. उन्हें किसी भी विधि-व्यवस्था ड्यूटी और दूसरे काम में प्रतिनियुक्त नहीं किया जा सकता.  सीनियर लीडरशीप कोर्स (एसएलसी) और प्रमोशनल ट्रेनिंग कोर्स (पीटीसी) के प्रशिक्षण कार्यक्रमों के प्रशिक्षु को भी वैसे तो ड्यूटी नहीं देनी है. लेकिन अपरिहार्य स्थिति में यदि उनकी ड्यूटी लगानी भी है तो डीजीपी की इजाजत लेकर ही विधि-व्यवस्था और अन्य कार्यों में उन्हें प्रतिनियुक्त किया जा सकता है. 

Find Us on Facebook

Trending News