मुसीबत का पता : रेड लाइट एरिया बंद होने का मोहल्ले के लोगों ने लगाया बोर्ड

मुसीबत का पता : रेड लाइट एरिया बंद होने का मोहल्ले के लोगों ने लगाया बोर्ड

BETIAH : बदनाम गलियों का खामियाजा उसके आसपास रहनेवाले लोगों को भुगतना पड़ता है. तरह-तरह के लोग इन गलियों के मुसाफिर होते है. जिनके हाव-भाव का असर शरीफ लोगों के बाल-बच्चों पर भी पड़ता है. बेतिया के नाजनीन चौक को ऐसे ही इलाके के रूप में जाना जाता है. लेकिन लोगों ने अपनी शराफत बचाने के लिए इस रेड लाइट को बंद कर दिया है. मोहल्लेवासियों ने बैठकर निर्णय लिया और नाजनीन चौक पर रेड लाइट एरिया बंद है का बोर्ड लगा दिया. 

कहा जाता है कि बेतिया राजा हरेन्द्र सिंह ने इसे अपने कार्यकाल में बनाया था. बेतिया राजा के उस जमाने में यहाँ नाच- गाना और मुजरा होता था. वह भी केवल राजा के मनोरंजन के लिये. लेकिन जब बेतिया राजपाट समाप्त हो गया. उसके बाद भी यहाँ हाल फिलहाल तक लोग आकर मुजरा सुनने का काम करते थे. 

समय गुजरते गया और उसके बाद यह मुहल्ला गंदी गली के नाम से बदनाम हो गया. यहाँ लोग मुजरा सुनने के बजाय ऐय्याशी करने आने लगे. आसपास के लोगों को यह माहौल परेशान करने लगा. इलाके के संभ्रांत परिवार के लोग अपना घर बेचकर दूसरे मुहल्ले मे चले गये. दूसरे मोहल्ले के लोग इस बदनाम गली में अपने लड़के या लडकियों का शादी ब्याह भी करने से कतराने लगे. 

पुलिस की छापेमारी में लोगों को अपनी शराफत की पहचान देनी होती है. अभी कुछ दिन पहले ही बेतिया पुलिस अधीक्षक के आदेशानुसार इस बदनाम गली मे छापेमारी कर 15 युवतियों और छह पुरूषों को आपत्तिजनक अवस्था मे कुछ आपत्तिजनक सामग्री के साथ गिरफ्तार किया गया था. 

साथ ही गिरफ्तार लोगों के साथ मुहल्ले के कुछ लोगों को भी नामजद करते हुए प्राथमिकी दर्ज की गई है.  जहाँ से लोग ऐय्याशी करते पकड़े गये थे. उस छह मकान को जिला प्रशासन ने सील कर दिया. इन परेशानियों को लेकर आज वहाँ बसे अन्य लोगो ने बोर्ड लगा दिया. उस पर साफ़ तौर पर लिख दिया गया है कि रेड लाईट एरिया को पूरी तरह से बंद कर दिया गया है.  

बेतिया से आशीष कुमार गुप्ता की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News