शिकायत से परेशान 'मुख्यमंत्री' ने शिक्षा मंत्री-मुख्य सचिव को किया तलब, जानें वजह....

शिकायत से परेशान 'मुख्यमंत्री' ने शिक्षा मंत्री-मुख्य सचिव को किया तलब, जानें वजह....

PATNA: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के जनता दरबार में शिक्षा और समाज कल्याण विभाग से जुड़ी अधिकांश शिकायतें आईं। एक युवती ने सीएम नीतीश से शिकायत दर्ज कराई कि स्नातक पास करने के बाद भी प्रोत्साहन राशि नहीं मिल रही है। प्रोत्साहन राशि नहीं मिलने की कई फरियादियों ने शिकायत की। इसके बाद मुख्यमंत्री ने शिक्षा मंत्री विजय चौधरी, मुख्य सचिव और शिक्षा विभाग के अपर मुख्य सचिव को तलब किया।

सीएम नीतीश के पास पहुंचे शिक्षा मंत्री विजय चौधरी से सीएम नीतीश ने पूछा कि आखिर ये कैसे हो रहा। इतनी शिकायत प्रोत्साहन राशि को लेकर कैसे आ रही है। इस पर शिक्षा मंत्री विजय चौधरी ने विश्वविद्यालय पर ठीकरा फोड़ा और कहा कि यूनिवर्सिटी स्तर से लापरवाही बरती जा रही है। इस वजह से देरी हो रही। हमलोग यह व्यवस्था कर रहे कि अगर सत्य़ापन में सात दिनों से अधिक देरी विवि के स्तर से की जायेगी तो हमलोग प्रोत्साहन राशि का भुगतान कर देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि अगर नियम बदला भी हो तो बदलें लेकिन प्रोत्साहन राशि मिलने में परेशानी न हो,इस पर काम करें।  


गुस्से में आये सीएम नीतीश ने मुख्य सचिव को किया तलब

एक महिला फरियादी ने CM नीतीश से कहा कि सेविका बहाली में पैसा मांगा जा रहा है। सीएम नीतीश ने पूछा कि पैसा मांग रहा है ? कौन मांग रहा है ? फरियादी ने जवाब दिया -सीडीपीओ.फिर क्या था मुख्यमंत्री गुस्से में आ गये। इसके बाद सीएम नीतीश गुस्सा गये। उन्होंने तुरंत मंत्री को फोन लगाया। घूस की मांग सुनते ही सीएम नीतीश बिफर गये। इसके बाद उन्होंने मुख्य सचिव और अपने प्रधान सचिव को बुलाया और कहा कि यह क्या हो रहा है..। कह रही कि पैसा मांग रहा है सीडीपीओ. क्या हो रहा है ये सब। आपलोग देखिए इसको। इस तरह का मामला आये तो तुरंत कार्रवाई करिए। समाज कल्याण का लगातार चार शिकायत आई है। 

जनता के दरबार में मुख्यमंत्री आज शिक्षा-स्वास्थ्य,समाज कल्याण विभाग समेत अन्य विभागों से जुड़े फरियाद सुन अधिकारिय़ों को आवश्यक निर्देश दे रहे हैं. एक युवक ने सीएम नीतीश से कहा कि अर्हता होने के बाद भी विकास मित्र में बहाली नहीं हुई। दूसरे लोगों की बहाली कर ली गई। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि विकास मित्र की बहाली तो काफी पहले हुई है। अभी आप समस्या लेकर क्यों आये हैं। इस पर फरियादी ने कहा कि हम योग्य हैं विकास मित्र के लिए। इसके बाद मुख्यमंत्री ने मंत्री को फोन लगाकर कहा कि बेगूसराय के एक युवक आया है। विकास मित्र में चयन को लेकर समस्या बताई है। इसको देख लीजिए क्यों नहीं इसका चयन हुआ है। 

Find Us on Facebook

Trending News