बेउर जेल में गर्मी से परेशान खूशबू सिंह की फरमाइश - बैरक में लगाएं एसी, पति डा. राजीव के सामने आते ही हो गई लड़ाई

बेउर जेल में गर्मी से परेशान खूशबू सिंह की फरमाइश - बैरक में लगाएं एसी, पति डा. राजीव के सामने आते ही हो गई लड़ाई

PATNA : जिम ट्रेनर विक्रम सिंह की हत्या की साजिश रचने के आरोप में पति फिजियोथेरेपिस्ट राजीव सिंह  के साथ बेउर जेल भेजी गई खूशबू सिंह बंद हैं। जहां उन्हें अब अपनी आलीशान जिंदगी की कमी सताने लगी है। खुशबू सिंह  को अब जेल में एसी या कूलर की सुविधा चाहिए। यह मांग उन्होंने खुद जेल प्रशासन से की है। हालांकि जेल प्रशासन ने खुशबू की मांग को ठूकरा दिया है। 

बेउर जेल के महिला बैरक में बंद खुशबू सिंह ने जेल प्रशासन से कहा कि उनके बैरक में काफी गर्मी है, जिसे वह बर्दाश्त नहीं कर पा रही है। इसलिए यहां एसी या कूलर की सुविधा मुहैया कराई जाए। जब उनकी मांग को जेल प्रशासन ने मानने से इनकार कर दिया तो उसके बाद उन्होंने जेल प्रशासन से कहा कि वह अपने पैसे से एसी  खरीदकर यहां लगवाना चाहती है। हालांकि खुशबू की यह मांग भी जेल प्रशासन ने मानने से इनकार कर दिया। जिसके बाद परेशान होकर उन्होंने बैरक के पंखे को ही बदलने की मांग की। खुशबू की शिकायत थी कि  वह जिस वार्ड में रह रही है उसका पंखा काफी धीमी गति से चल रहा है। आवाज भी करता है। जिसको लेकर कारा प्रशासन ने पंखा बनवाने का आश्वासन दिया है। रविवार को खुशबू भोजन को लेकर अधिक परेशान नहीं दिखी।

पति से मिलते ही गई लड़ाई

इससे पहले बेउर जेल में बद फिजियोथेरेपिस्ट राजीव सिंह व उनकी पत्नी खुशबू सिंह ने रविवार को कारा प्रशासन से अनुमति लेकर 25 मिनट तक बातचीत की। हालांकि, दरवाजे पर महिला कक्षपाल की ड्यूटी लगाई गई थी। पहले तो दोनों के बीच कहासुनी हुई फिर मुकदमे से संबंधित बातें होने लगीं। 

डाक्टरों से की बेचैनी की शिकायत

पति-पत्नी ने जेल अस्पताल पहुंचकर बेचैनी की शिकायत की। इसके बाद जांच की गई। जांच में सबकुछ नार्मल पाया गया फिर भी कारा चिकित्सकों ने उसे दवा दे दी। रविवार को भी उनसे मिलने कोई नहीं पहुंचा। आपको बता दें कि राजीव सिंह बिहार के सत्‍ताधारी दल जदयू में पदधारक थे, लेकिन यह मामला सामने आते ही उन्‍हें पार्टी से बाहर कर दिया गया था।


Find Us on Facebook

Trending News