राष्ट्रवाद और इमोशन के बहाने असल इश्यू पर पर्दा डालने की कोशिश,क्या इन मुद्दों से राधामोहन सिंह की नैया होगी पार ?

राष्ट्रवाद और इमोशन के बहाने असल इश्यू पर पर्दा डालने की कोशिश,क्या इन मुद्दों से राधामोहन सिंह की नैया होगी पार ?

PATNA/MOTIHARI : देश के कृषि मंत्री राधामोहन सिंह पूर्वीचंपारण के रण में लगातार तीसरी बार हैट्रिक लगाने के लिए खूब मिहनत कर रहे। कृषि मंत्री अपने गृह जिले और अपने संसदीय क्षेत्र में भी पिछले पांच साल में बतौर केंद्रीय मंत्री के तौर पर किए कामों की बजाए राष्ट्रवाद और इमोशन पर वोट मांग रहे हैं.

राधामोहन सिंह का पहला कार्ड

राधामोहन सिंह अपने क्षेत्र की हर सभाओं में यह कहने से नहीं चुकते की यह चुनाव उनकी जिंदगी का अंतिम चुनाव है।इसके बाद अब वे चुनाव नहीं लड़ेंगे।इसलिए आप सब एक बार फिर से वोट दीजिए।जानकार बताते हैं कि यह कहकर बीजेपी प्रत्याशी राधामोहन सिंह नाराज वोटरों के गुस्से को कम करने की कोशिश कर रहे हैं।

दूसरा कार्ड- हमने किसी का नहीं बिगाड़ा

राधामोहन सिंह अपने क्षेत्र में चुनाव प्रचार के दौरान जो दूसरी बात करते हैं वो यह कि हमने किसी का बनाया नहीं तो किसी का बिगाड़ा भी नहीं है।बीजेपी प्रत्याशी इन दिनों अपनी अधिकांश सभाओं में कहते चल रहे हैं कि हमनें अपने विपक्षी नेताओं का भी कुछ नहीं बिगाड़ा है।इसलिए आप सब हमें अंतिम बार मदद करिए। राधामोहन सिंह यह कहने से भी नहीं चुकते हैं कि हमने राजनीति में अपने परिवार के किसी सदस्य को आगे नहीं किया है । इसके माध्यम से बीजेपी उम्मीदवार स्थानीय वोटरों में भावना जगाकर अपनी नैया पार करने की जुगत में लगे हैं।

तीसरा इश्यू राष्ट्रवाद

देश के कृषि मंत्री राधामोहन सिंह राष्ट्रवाद की भी चर्चा करना नहीं भूलते।वे कहते हैं कि बीजेपी के हाथों में देश सुरक्षित है।इसलिए आप लोग हमें नहीं बल्कि देश को सुरक्षित करने वाले पीएम मोदी को वोट करिए।सोमवार को जब बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह मोतिहारी आए थे तो उन्होंने भी कहा था कि आप लोग राधामोहन सिंह को काम के लिए वोट मत करिए।आपलोग पीएम मोदी को वोट करिए।

जानकार बताते हैं कि इस बार पुर्वीचंपारण के जल्वंत मुद्दों को पुरी सुनियोजित तरीके से गायब करने की कोशिश की जा रही है।स्थानीय सांसद और देश के कृषि मंत्री इन मुद्दों पर चर्चा करना भी नहीं चाहते।बीजेपी प्रत्याशी राष्ट्रवाद और इमोशन के बहाने असल इश्यू पर पर्दा डालने की कोशिश कर रहे हैं। स्थानीय लोग बताते हैं कि चंपारण में चीनी मिल का मुद्दा सबसे बड़ा मुद्दा है। लेकिन इस पर देश के कृषि मंत्री ने चुनाव कैंपेन में मुंह तक नहीं खोला है।मोतिहारी शहर की हृदय मोतिझील की क्या स्थिति है इस पर कोई चर्चा करना नहीं चाहता।

वहीं कांग्रेस के राज्यसभा सांसद अखिलेश सिंह और पूर्वीचंपारण से महागठबंधन प्रत्याशी आकाश सिंह  इन लोकल मुद्दो पर हीं राधामोहन सिंह को घेर रहे हैं।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News