पटना साहिब सीट पर आमने-सामने दो महारथी, बीजेपी और कांग्रेस की प्रतिष्ठा दांव पर

पटना साहिब  सीट पर आमने-सामने दो महारथी, बीजेपी और कांग्रेस की प्रतिष्ठा दांव पर

PATNA : बीजेपी की परंपरागत सीट पटना साहिब लोसभा सीट पर इसबार जीत आसान नहीं होने जा रही है। सिने अभिनेता व बीजेपी के पुराने दिग्गज नेता रहे शत्रुघ्न सिन्हा पिछले दोचुनाव से पटना साहिब सीट जीतकरभाजपा की झोली में डालते रहे हैं। लेकिन इसबार वे बीजेपी को खिलाफ चुनाव मैदान में है। 

शत्रुघ्न सिन्हा सामने कांग्रेस, राजद के बड़े-बड़ेदिग्गज चुनाव मैदान में उतरे लेकिनमात खाते रहे। लेकिन इस बार मामला उलटा है। शत्रुइसबार कमल नहीं हाथ चुनाव चिन्ह् के साथ मैदान में होंगे, और उनका मुकाबला अपने पुराने घर के साथी रविशंकर प्रसाद से होगा।  बता दें बीजेपी ने यहां से केन्द्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद को चुनाव मैदान में उतारा है। 

रविशंकर प्रसाद और शत्रुघ्न सिन्हा के चुनाव मैदान में होने से यह सीट भाजपा और कांग्रेस दोनों के लिए नाक कीलड़ाई वाली सीट बन गई है। 

दरअसल दो बार से भाजपा के लिएयह सीट जीतने वाले शत्रुघ्न सिन्हा शुरु से ही पीएम मोदी और पार्टी के खिलाफ आक्रमक रुख अपनाये हुए थे। वहीं पार्टी के पुराने नेताओं को किनारे लगाए जाने के बाद उन्हें यह अंदाजा था कि भाजपा उन्हेंचुनाव मैदान से बाहर का रास्ता दिखा सकती है, इसलिए समय रहते उन्होंने भाजपा को अलविदा करने औरकांग्रेस का दामन थामने की रणनीतितैयार कर ली थी। वहीं कांग्रेस में उनके शामिल होते ही उन्हें यहां से हाथ सिंबल भी मिल गया। 

भाजपा बनाम कांग्रेस के बीच यहांजीत किसी के लिए आसान नहीं होगी।मुकाबला कड़ा होना तय है। कायस्थ बहुल इस क्षेत्र में दो-दो कायस्थ महारथियों के चुनाव मैदान में होने की वजह से यह सीट राजनीतिक गलियारे के साथ-साथ मतदाताओं के लिए भी उत्सुकता का विषय बन गई है। 

अब देखने वाली बात यह होगी कि इस क्षेत्र में प्रत्याशियों की जीत-हार में अहम भूमिका अदा करने वाले कायस्थ मतदाता वर्तमान सांसद शत्रुघ्न सिन्हा के साथ जाते हैं या फिर बीजेपी के रविशंकर प्रसाद के साथ।   

Find Us on Facebook

Trending News