गांधी जयंती पर नवादा कारा मंडल की अनोखी पहल, महात्मा गाँधी पर लिखी पुस्तक देकर दो कैदियों को किया रिहा

गांधी जयंती पर नवादा कारा मंडल की अनोखी पहल, महात्मा गाँधी पर लिखी पुस्तक देकर दो कैदियों को किया रिहा

NAWADA : आज पुरे देश में राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150 वीं जयंती मनाई जा रही है. इस अवसर पर देश भर में कार्यक्रम आयोजित कर उनके व्यक्तित्व और कृतित्व को याद किया जा रहा है. साथ ही उनके विचारों को जन-जन तक पहुँचाने का संकल्प किया जा रहा है. वहीँ नवादा मंडल कारा में उनके 150 वीं जयंती के मौके पर रिहा किया गया. जेल अधीक्षक महेश रजक ने बताया की विधि विभाग एवं गृह कारा विभाग के निर्देशानुसार दो कैदी राजेश चौधरी पिता बच्चू चौधरी और दूसरे राजबल्लभ चौधरी पिता बच्चों चौधरी ग्राम भदोही को रिहा गया है. इस मौके पर उन्हें जेल प्रशासन की ओर गांधीजी के ऊपर लिखी गयी पुस्तक उपहारस्वरुप दिया गया. साथ ही उन्हें माला पहना कर विदाई दी गयी. कार्यक्रम का संचालन कर रहे संगीत शिक्षक विजय शंकर पाठक बापू का प्यारा भजन रघुपति राघव राजा राम गाते हुए उन दोनों कैदियों को गेट तक ले आये.   

इसे भी पढ़े : राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150 वीं जयंती पर निकाली गयी पदयात्रा, विचारों को जन-जन तक पहुँचाने का संकल्प

उधर मंडल कारा नवादा में राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के 150 मी जयंती के अवसर पर और कई कार्यक्रम आयोजित किये गए. सबसे पहले  जेल अधीक्षक महेश रजक और जेल उपाधीक्षक रामविलास दास ने बापू के चित्र पर माल्यार्पण किया. वही कारा लिपिक राजीव कुमार दुबे, चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अभिषेक गौरव, प्रोग्रामर अनंत कुमार के साथ-साथ जेल में बंद कैदियों ने राष्ट्रपिता के चरणों में पुष्पांजलि अर्पित किया. 

इसे भी पढ़े : बर्बाद हुए फसलों के लिए किसानों को राहत दे सकती है बिहार सरकार, कृषि मंत्री ने दिया आश्वासन

संगीत शिक्षक विजय शंकर पाठक ने बताया कि गांधी जयंती के अवसर पर संगीत सीख रहे कैदियों ने बापू के अनेक भजन जाकर जयंती को उत्साह पूर्वक मनाया. उन्होंने “वैष्णव जन तो तेने कहिए पीर पराई जाने रे” बाबू का प्यारा भजन के साथ-साथ भक्ति गीत “राम का भक्त हनुमान बड़ा प्यारा है” गाकर सभी कैदियों को तालियां बजाने पर विवश कर दिया. इस कार्यक्रम में कैदियों ने भी बढ़-चढ़कर भाग लिया. 

नवादा से अमन सिन्हा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News