बिहार महिला आयोग के दफ्तर में दो महिलाओं के बीच झोटा-झोटी, पढ़िए पूरी खबर

NEWS4NATION : बिहार राज्य महिला आयोग के दफ्तर में दो महिलाएं आपस में भीड़ गई. दोनों के बीच आयोग के सामने तीखी नोकझोक हुई. खबरों की माने तो अपर्णा नाम की महिला ने जिस स्वेता नाम की महिला के ऊपर आरोप लगाया था. आयोग ने दोनों को नोटिस देकर अपना पक्ष रखने को कहा था. दोनों आज अपना-अपना पक्ष रखने के लिए आयोग के दफ्तर आयी थी. आयोग की अध्यक्षा के चेंबर में ही दोनों के बीच  गरमा-गरम बहस हो गई. देखते ही देखते दोनों महिलाएं आपस में ही भीड़ गई. वहां पर मौजूद महिला आयोग की सुरक्षा कर्मियों के काफी मशकत के बाद दोनों को अलग किया. 

अपर्णा की नजर में क्या है पूरा मामला 

अपर्णा के पति का नाम ज्ञानेंद्र कुमार त्रिपाठी है। वो IRS हैं और इलाहाबाद में डिप्टी कमिश्नर के पद पर पोस्टेड हैं। अपर्णा का कहना है कि साल 2012 में उसके पति ने देवघर मंदिर में जाकर श्वेता मिश्रा नाम की किसी महिला से शादी कर ली। श्वेता मिश्रा वर्तमान में पटना में महिला बाल संरक्षण सचिव के पद पर तैनात हैं। अपर्णा का कहना है कि श्वेता की ओर से उसे और उसके भाई को फर्जी आर्म्स एक्ट के मुकदमे में कई बार फंसाने की कोशिश की गयी। श्वेता मिश्रा पुलिस और विभाग दोनों को झूठ बोलकर गुमराह कर रही हैं। साथ ही गलत दस्तावेज पेश कर कोर्ट को भी गुमराह कर रही हैं। पद और पावर का इस्तेमाल कर दोनों मुझे प्रताड़ित कर रहे हैं। मेरी स्थिति अब ऐसी हो गयी है कि मुझे राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु की मांग करनी पड़ेगी। जब चारों ओर से अपर्णा को निराशा हाथ लगी तो थकहार कर उसने महिला आयोग में इंसाफ के लिए गुहार लगायी। अपर्णा का कहना है कि सच सामने लाने के लिए संघर्ष करूंगी। मीडिया से भी मदद मांगी है। मेरे जीवन का अब मात्र यही एक उद्देश्य है। मैं राष्ट्रीय महिला आयोग भी जाऊंगी। उसने पति के विभाग में भी शिकायत दर्ज करायी है। उसका कहना है कि फिलहाल वो कोलकाता में रहती है। उसे हमेशा प्रताड़ित किया जाता है। उसके घर की बिजली कटवा दी गयी थी। 

श्वेता मिश्रा ने अपने ऊपर लगे आरोपों की निराधार बताया था 

न्यूज फॉर नेशन ने जब इस मामले पर श्वेता मिश्रा से बीते दिनों बात की थी तो उन्होंने कहा कि उनके ऊपर लगे सभी आरोप निराधार है. श्वेता मिश्रा ने कहा कि इस मामले में पटना उच्च न्यायालय ने पहले ही उन्हें दोष मुक्त कर दिया है. ऐसे में उन्हें बेवजह परेशान किया जा रहा है. 

ज्ञानेंद्र कुमार त्रिपाठी ने रखा अपना पक्ष

दूसरी ओर न्यूज फॉर नेशन से बात करते हुए ज्ञानेन्द्र कुमार त्रिपाठी ने कुछ दिन पहलेे अपना पक्ष रखते हुए कहा था कि अपर्णा के साथ उनका मामला कोर्ट में विचाराधीन है। श्वेता के साथ शादी करने के पत्नी के आरोप का खंडन करते हुए त्रिपाठी ने कहा कि उन्होंने दुसरी शादी नहीं की है। इस संबंध में लगाए गए सभी आरोप निराधार है। मै अपना पक्ष न्यायालय के समक्ष रखूंगा। ज्ञानेन्द्र कुमार त्रिपाठी ने अपर्णा त्रिपाठी पर गंभीर आरोप लगाये है, जिसमें यह बताया गया कि तलाक के लिए अपर्णा के तरफ से डेढ़ करोड़ रूपये की मांग की गई है.

Find Us on Facebook

Trending News