लखीसराय में उद्गम डेवलपमेंट फाउंडेशन की पहल, लोगों के बीच बांटे जा रहे कोरोना किट

लखीसराय में उद्गम डेवलपमेंट फाउंडेशन की पहल, लोगों के बीच बांटे जा रहे कोरोना किट

LAKHISARAI : कोविड 19 महामारी की रफ़्तार पर जैसे ही थोड़ा ब्रेक लगा है. वैसे ही विभिन्न संगठनों ने कोविड 19 का संभावित तीसरी लहर को बचाव के लिए क़दम आगे बढ़ा दिया है. उसमें उद्गम डेवलपमेंट फाउंडेशन प्रमुख हैं. जिन्होंने ग्रामीण स्तर पर पंचायत दर पंचायत कैम्प लगाकर कर स्वास्थ्य कर्मियों, आशा कार्यकर्ता ,आंगनवाड़ी सेविका, जनप्रतिनिधियों  एवं आम लोगों को संभावित  कोविड 19 के प्रति जागरूकता अभियान चला रखा है. साथ ही इससे बचाव के लिए ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर, वेरोराईजर, मेडिकल दवा कीट, ऑक्सीजन मास्क, सेनिटाइजर के अलावा गरीब निराश्रित एवं दिव्यांगो के बीच खाद्य सामग्रियां का वितरण कर रहे हैं. 

इस सिलसिले में उद्गम डेवलपमेंट के सचिव कुमारी सोनी ने अपने पति एफसीआई महाप्रबंधक राकेश रंजन के पैतृक गांव बड़हिया को गोद लिया है. जिसके तहत उन्होंने यह अभियान चलाया है. उसी को लेकर फाउंडेशन के अध्यक्ष अजय ने एक सप्ताह से बड़हिया खुटहा में कैम्प कर अनवरत कैम्प लगाकर ग्रामीण स्तर पर पंचायत दर पंचायत कैम्प लगाकर स्वास्थ्य कर्मियों, कम्पाउन्डर, आशा कार्यकर्ता, आंगनवाड़ी सेविका जनप्रतिनिधियों को संभावित कोविड 19 तीसरी लहर बचाव की जानकारी देकर जागरूक कर रहे और ऑक्सीमीटर , थर्मामीटर, वेपोराईजर कंसेरेटर मेडिकल कीट दवा, सेनिटाइजर, मास्क का वितरण कर रहे हैं. इसके अलावा जिलाधिकारी संजय कुमार सिंह एवं आरक्षी अधीक्षक सुशील कुमार को सभी पदाधिकारियों के समक्ष में ऑक्सीजन मास्क चार सौ एवं चिल्ड्रेन ऑक्सीजन मास्क स्वास्थ्य कर्मियों के लिए सुपुर्द किया. 

इसके अलावा गरीब निराश्रित एवं दिव्यांगो के बीच खाद्य सामग्रियां वितरण   कर रहे हैं. फाउंडेशन ने खुटहा पूर्वी, चेतन टोला, गंगासराय, जैतपुर, डुमरी, लक्ष्मीपुर, गिरधरपुर, पाली एवं ऐजनी पंचायतों एवं नपं पंचायत बड़हिया में कैम्प किया है. वितरण बीडीओ नीरज कुमार, सीओ प्रिया कुमारी, थानाध्यक्ष डीके पाण्डेय, मुखिया एवं फाउंडेशन अध्यक्ष अजय कुमार आदि ने किया. फाउंडेशन के सचिव कुमारी सोनी ने बताया कि मेरा उद्देश्य है मानव सेवा करना. जिसके तहत उद्गम डेवलपमेंट फाउंडेशन संस्था बनाई गई है. कोरोना महामारी देखकर उद्गम ने राशन भोजन दवा सामग्रियां ऑक्सीमीटर, थर्मामीटर, वेपोराईजर, कंसेरेटर, सेनिटाइजर, मास्क वितरण किया जा रहा है. एडप्ट ऑफ विलेज के तहत पति राकेश रंजन का पैतृक गांव बड़हिया को गोद ली हूँ और मैं पीरो गोह को गोद ली हूँ. ऐसे अन्य गांवों को भी सहयोग कर रहीं हूं. उन सभी लोगों का आभार जो समाज सेवा में हमारे फाउंडेशन को सहयोग कर मनोबल बढ़ा रहे हैं. उन्होंने कहा की यह प्रयास जारी रहेगा. 

लखीसराय से कमलेश की रिपोर्ट 

          

Find Us on Facebook

Trending News