भतीजे को पीटता देख गुस्से में लाल हुआ 'चाचा', छोटे भाई की पत्नी को चाकू से गोद-गोदकर मार डाला

भतीजे को पीटता देख गुस्से में लाल हुआ 'चाचा', छोटे भाई की पत्नी को चाकू से गोद-गोदकर मार डाला

MOTIHARI : आम तौर पर ऐसा सुनने को कम मिलता है कि एक मां अपने बेटे को पीट रही हो और उसे बचाने के लिए बच्चे की मां की हत्या कर दी जाए। वह भी बच्चे के सगे चाचा के द्वारा। बिहार के मोतिहारी जिले में ऐसा ही मामला सामने आया है। यहां भतीजे को पीटते देख नशे में धुत भैंसुर (जेठ) ने अपने छोटे भाई की पत्नी को चाकू से गोदकर मार डाला। घटना के बाद ग्रामीणों ने आरोपी को पकड़कर पुलिस के हवाले कर दिया। पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए मोतिहारी सदर अस्पताल भेज दिया।

मुर्गे को लेकर बेटे को पीट रही थी महिला

घटना कल्याणपुर थाने की पीपराखेम पंचायत के बासमन छपरा गांव में शुक्रवार शाम की है। ग्रामीणों ने पुलिस को बताया कि घटना के समय मृतका का पति मजदूरी करने गया था। महिला बाजार से सामान खरीदकर लौटी थी। घर आने पर देखा कि उसका मुर्गा नहीं है।इसके बारे में अपने बेटे से पूछा कि मुर्गा कहां है? उसके बेटे गुड्डू ने बताया की मुर्गे को नेवला लेकर भाग गया है। यह सुनकर महिला रीता देवी अपने बेटे की पिटाई करने लगी। 

इसी दौरानभतीजे की पिटाई देखकर नशे में धुत रामअयोध्या महतो उर्फ योद्धा महतो वहां पहुंच गया और अपने छोटे भाई की पत्नी रीता देवी को चाकू से बुरी तरह गोद दिया। जिससे घटनास्थल पर ही महिला की मौत हो गयी। 

बड़का बाबू मां को मार दिए

मृतका चार बच्चों की मां थी। सबसे बड़े गुड्डू कुमार (12) के अलावा अंजली, जूही, रेशम हैं। पुत्र गुडू ने बताया कि मां हमको पीट रही थी, तब बड़का बाबू आकर मां को चाकू मार दिये। सभी नाबालिग बच्चे अपनी मां की मौत से मर्माहत थे। आस-पड़ोस के लोग इन बच्चों को ढांढस बंधा रहे थे। वहीं थानाध्यक्ष बालेश्वर प्रसाद ने बताया कि आरोपी भैंसुर रामअयोध्या महतो उर्फ योद्धा महतो को न्याययिक हिरासत में भेज दिया गया है।


Find Us on Facebook

Trending News