बक्सर मामले को लेकर बिहार सरकार पर बरसे केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे, कहा नीतीश को सत्ता से बेदखल करने तक शांत नहीं बैठूंगा

बक्सर मामले को लेकर बिहार सरकार पर बरसे केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे, कहा नीतीश को सत्ता से बेदखल करने तक शांत नहीं बैठूंगा

PATNA : केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने आज बिहार में महागठबंधन की सरकार पर जमकर हमला बोला। बीजेपी प्रदेश कार्यालय में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में अश्विनी चौबे ने बताया की कल बक्सर से पटना आने के दौरान मेरी स्कॉट गाडी दुर्घटनाग्रस्त हुई थी। लेकिन मैं दुर्घटना में बाल-बाल बच गया। आज उन्होंने बक्सर में किसानों पर हुए लाठीचार्ज को लेकर कहा की बक्सर में जो बिजली ताप घर बन रहा है वह मेरा ड्रीम प्रोजेक्ट है। लेकिन बिहार में किसानों पर अत्याचार और रामचरितमानस का अपमान हो रहा है। बक्सर के चौसा में किसानों पर जो अत्याचार हुआ। उसको लेकर मै 24 घंटे उपवास में रहा। लेकिन बक्सर में मेरे पर जानलेवा हमला हुआ। किसानों के लिए मैं जो आंदोलन कर रहा हूं उसे रोकने के लिए। मेरे बॉडीगार्ड ने मुझे वहां पर बचाया। स्थानीय पुलिस के तरफ से मुझे कोई सहायता नहीं मिली। मुझ पर हमला करने वाला व्यक्ति देसी कट्टा लेकर वहां से भागा। पुलिस इस मामले को देखती रही, लेकिन कुछ नहीं किया। इस मामले को लेकर मैंने जिला अधिकारी से लेकर मुख्य सचिव तक को सूचना दी। हालाँकि मुझ पर हमला करने वाले 3 लोगों को मेरे सहयोगी ने पकड़ा। उसमें से एक व्यक्ति को स्थानीय दबंगों के कारण छोड़ दिया गया। मेरे ऊपर जो हमला हुआ और जो आरोपी पकड़े गए। उस पर क्या कार्रवाई हुई। इसका मुझे मुख्यमंत्री से जवाब चाहिए।

 

केंद्रीय मंत्री ने कहा की किसानों की समस्या का समाधान किसानों के बिना राय लिए हुए नहीं होगी। बिहार से सांसद हूं और केंद्रीय मंत्री भी। उसके बावजूद भी मुझे सुरक्षा नहीं दी गई। मेरे सुरक्षा का कोई पुख्ता इंतजाम नहीं किया गया। यह प्रोटोकॉल नियमों का उल्लंघन है। चौसा में किसानों को चुप कराने के लिए पुलिस द्वारा बर्बरतापूर्ण कार्य हुआ है। जिन पुलिसकर्मियों ने किसान की मां और बहन और बेटियों की पिटाई की है। उनको राज्य सरकार नौकरी से हटाए। किसानों के आंदोलन के पीछे साजिश के तहत हिंसा की गई। इसका खुलासा होना चाहिए। 

उन्होंने कहा की बक्सर में एक अदना अधिकारी किसानों का दमन कर रहा है। उन्होंने साफ़ तौर पर कहा की नीतीश कुमार कायरता का काम कर रहे हैं नीतीश कुमार कायर है। मेरी हत्या की साजिश हो रही है। नीतीश कुमार की यहां समाधान यात्रा है या व्यवधान यात्रा है। उन्होंने कहा की 30 जनवरी को गांधी जी की हत्या हुई थी। नीतीश कुमार जहां से समाधान यात्रा की शुरुआत किया और व्यवधान डाला। वहां मैं भी जाऊंगा। 30 जनवरी से मैं अपनी यात्रा की शुरुआत करूंगा और वहां पर जाकर नीतीश के खिलाफ मौन व्रत कर लूंगा। नीतीश कुमार ने जहां-जहां समाधान यात्रा किया है वहां वहां जाकर मैं उपवास करूंगा। नीतीश कुमार को जब तक सत्ता से बेदखल नहीं करूंगा शांत नहीं बैठूंगा।

शिक्षा मंत्री के रामचरितमानस पर विवादित बयान को लेकर अश्विनी चौबे ने कहा की वे इसके बारे में गलत बोलते हैं। समाज के हर वर्ग को साथ लेकर चलने वाले मर्यादा पुरुषोत्तम राम थे। नीतीश कुमार को हिम्मत है तो वह राजनीति ना करें। उस पर जवाब दें की शिक्षा मंत्री पर कार्रवाई क्यों नहीं हुई अभी तक। उन्होंने साफ़ कहा की लालू प्रसाद यादव के पास इस मंत्रिमंडल में किसी को हटाने और लाने का रिमोट कंट्रोल है। 

पटना से अभिजीत की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News