सेमिनार में भाग लेने नालंदा पहुंचे केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे, प्रकृति और संस्कृति को बचाने का किया अपील

सेमिनार में भाग लेने नालंदा पहुंचे केन्द्रीय मंत्री अश्विनी चौबे, प्रकृति और संस्कृति को बचाने का किया अपील

NALANDA : केन्द्रीय पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे आज नालंदा पहुंचे। जहाँ उन्होंने कहा की विश्व में जलवायु परिवर्तन गंभीर समस्या है।  उसे उबरने के लिए भारत सरकार के द्वारा कई कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। 


उन्होंने कहा कि भारत सरकार ने 49 हजार करोड़ की लागत से 13 बड़ी नदियों को मिलाने, उसके संरक्षण एवं संवर्धन के लिए पर्यावरण एवं जल शक्ति मंत्रालय के द्वारा अभियान की शुरुआत की गई है। उन्होंने कहा कि पर्यावरण की रक्षा के लिए इसका नाम निर्मल धारा स्वच्छ किनारा  दिया गया है। 

केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने आज नालंदा स्थित नव नालंदा महाविहार में ऋषि एवं कृषि संस्कृति के समक्ष  पर्यावरणीय चुनौतियां : वैदिक व व्यावहारिक समाधान विषय पर दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के अवसर पर कहा। केंद्रीय राज्य मंत्री अश्विनी कुमार चौबे ने कहा कि कई नदियां संकीर्ण हो गई है एवं कई विलुप्त हो गई है उसे भी खोज निकाला जाएगा। 

उन्होंने कहा कि इस योजना से कृषि व्यवस्था उन्नत होगी । उन्होंने कहा कि प्रकृति एवं संस्कृति को साथ लेकर चलना होगा, तभी इंसान बचेगा। उन्होंने खासकर युवा पीढ़ी को  अपने जीवन में 5 पेड़ अवश्य लगाने की अपील की। इस दो दिवसीय संगोष्ठी में कई राज्यों के संस्कृत  विद्वान एवं पर्यावरणविद भाग ले रहे हैं।  

नालंदा से राज की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News