विकास कार्य को लेकर केंद्रीय मंत्री ने की सीएम नीतीश की तारीफ, कहा- बिहार में स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य हुआ

विकास कार्य को लेकर केंद्रीय मंत्री ने की सीएम नीतीश की तारीफ, कहा- बिहार में स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य हुआ

पटना. केंद्रीय इस्पात मंत्री राम चंद्र प्रसाद सिंह ने बिहार में विकास कार्य को लेकर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की तारीफ की है. उन्होंने कहा कि नीतीश के नेतृत्व में बिहार में स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य हुआ है, जो बिहार को विकसित प्रदेश बनाने के उनके संकल्प को पूर्ण करने की प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं. उन्होंने कहा कि आने वाले समय में शायद ही कोई बिहार का जिला होगा, जिसमें मेडिकल कॉलेज नहीं होगा. दरभंगा में एम्स का निर्माण कराया जा रहा है, सभी जिला हस्पतालों में सिटी स्कैन, डायलिसिस, रेडियोलोजी, पैथोलॉजी की सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं.

केंद्रीय मंत्री आरसीपी सिंह ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार द्वारा राज्य के लिए 1900 करोड़ रुपये से अधिक की स्वास्थ्य परियोजनाओं के शुभारम्भ को अभूतपूर्व जन कल्याणकारी कदम बताया है. उन्होंने कहा कि  हमारे नेता नीतीश के नेतृत्व में बिहार में स्वास्थ्य के क्षेत्र में अभूतपूर्व कार्य कार्य हो रहा है, जो बिहार को विकसित प्रदेश बनाने के उनके संकल्प को पूर्ण करने की प्रतिबद्धता को दर्शाते हैं. जमुई में करीब 500 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले मेडिकल कॉलेज और हॉस्पिटल के शिलान्यास पर बोलते हुए आरसीपी सिंह ने कहा कि  2005 से पहले बिहार में स्वास्थ्य सेवाओं की क्या स्थिति थी, सब जानते हैं.


उन्होंने कहा कि आज इस क्षेत्र में जो काम किया गया है वो नज़र आने लगा है. बहुत सारे मेडिकल कॉलेज की स्थापना की गयी है. पैरामेडिकल और नर्सिंग के बहुत से संस्थान खोले गए हैं और इनका प्रभाव दिखने लगा है. इससे स्वास्थ्य सेवाओं में काफी सुधार आया है. आने वाले समय में शायद ही कोई जिला होगा, जिसमें मेडिकल कॉलेज नहीं होगा. दरभंगा में एम्स का निर्माण कराया जा रहा है, सभी जिला हस्पतालों में सिटी स्कैन, डायलिसिस, रेडियोलोजी, पैथोलॉजी की सुविधाएं उपलब्ध कराई जा रही हैं.

उन्होंने कहा कि यह हर्ष और गौरव की बात है कि नीतीश बाबू के नेतृत्व में सरकार ने हर क्षेत्र में बहुत काम किया है. विशेषकर कोरोना काल में महामारी पर नियंत्रण के लिए 9 करोड़ से ज्यादा डोज़ बिहार में लगाी जा चुकी हैं और प्रतिदिन 2 लाख लोगों की कोरोना जांच की जा रही है. बिहार में आबादी के अनुपात में जांच की संख्या देश की औसत से अधिक है. 2005-06 में जिन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों में छुटपुट संख्या में मरीज इलाज के लिए आते थे, वहां अब हज़ारों की संख्या में मरीजों का इलाज होता है और अब उन्हें टेलीमेडिसिन की सुविधा भी उपलब्ध है.

आरसीपी सिंह ने कहा कि हमारे जितने  भी स्वास्थ्य कर्मियों को मुख्यमंत्री ने सम्मानित किया है, उनको भी बधाई और शुभकामना देता हू. मुझे विश्वास है कि हमारे नेता नीतीश जी के मार्गदर्शन में इसी प्रकार जनहित के कार्य निरंतर चलते रहेंगे.

Find Us on Facebook

Trending News