यह यूपी के सीएम का गृह जिला है, यहां श्मशान घाट में जलती चिताओं की तस्वीरें लेना अपराध है!

यह यूपी के सीएम का गृह जिला है, यहां श्मशान घाट में जलती चिताओं की तस्वीरें लेना अपराध है!

GORAKHPUR : कोरोना काल में जो चीजें सबसे लोगों को विचलित कर रही हैं, वह है श्मशान घाटों में जलती चिताओं की तस्वीरें। देश में शायद ही कोई ऐसा श्मशान है, जहां हर दिन सौ के करीब लाशें नहीं जलाई जा रही हों। सोशल मीडिया श्मशान घाट की ऐसी तस्वीरों से भरी पड़ी है। जिसको लेकर लोग सरकार पर सवाल भी उठा रहे हैं। लगातार ऐसी तस्वीरों के कारण हो रही आलोचनाओं के बाद यूपी के सीएम के गृह जिले गोरखपुर में श्मशान घाट की तस्वीरें लेने पर रोक लगाने का आदेश जारी कर दिया गया, लेकिन जब स्थानीय लोगों ने इस फैसले का विरोध किया तो आनन फानन में फैसले को वापस ले लिया गया।

यहां के श्मशान घाटों के बाहर नगर निगम की तरफ से बैनर टांग दिए थे। इन बैनरों पर लिखा था कि यहां पर तस्वीरें लेना दंडनीय अपराध है. नगर निगम ने ऐसे एक-दो बैनर नहीं, बल्कि कई बैनर लगाए थे. बैनर पर लिखा था, "शवदाह गृह पर पार्थिव शरीर का दाह संस्कार हिंदू रीति रिवाज के अनुसार किया जा रहा है. कृपया फोटोग्राफी/ वीडियोग्राफी ना करें. ऐसा करना दंडनीय अपराध है."

गोरखपुर नगर निगम ने बैनर लगाकर यह जताने की कोशिश की है अगर आपने यहां पर तस्वीरें ली तो पकड़े जाने पर आपके ऊपर कानूनी कार्रवाई भी की जा सकती है. हालांकि, जब इन बैनरों की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हुई और सरकार की आलोचना शुरू हुई, तो रातों रात इन बैनरों को हटा दिया गया.

Find Us on Facebook

Trending News