BPSC पेपर लीक के मामले में आरोपी के साथ नाम सामने आने पर भड़के उपेंद्र कुशवाहा, मीडिया संस्थानों पर निकाल रहे भड़ास

BPSC पेपर लीक के मामले में आरोपी के साथ नाम सामने आने पर भड़के उपेंद्र कुशवाहा, मीडिया संस्थानों पर निकाल रहे भड़ास

PATNA : बीपीएससी पेपर लीक मामले में मुख्य आरोपी शक्ति कुमार के साथ नाम जुड़ने के बाद जदयू के संसदीय समीति के सदस्य उपेंद्र कुशवाहा बुरी तरह से घिर गए हैं। जिस तरह से आरोपी शक्ति कुमार के साथ उपेन्द्र कुशवाहा की तस्वीरें सामने आई है, उसके बाद अब उपेंद्र कुशवाहा ने मीडिया संस्थानों पर ही अपनी भड़ास निकालनी शुरू कर दी है। 

आज पटना में जब उपेंद्र कुशवाहा से बीपीएससी पेपर लीक में जदयू के नेता की गिरफ्तारी और उसके साथ आई उनकी तस्वीरें को लेकर उपेंद्र कुशवाहा से जवाब मांगा गया तो उन्होंने कहा कि कोई भी संस्थान यह दावा नहीं कर सकता है कि उनके यहां काम करनेवाले लोग इमानदार ही होंगे। उन्होंने न्यूज4नेशन सहित सभी मीडिया संस्थानों के काम पर सवाल उठा दिया कि उनके यहां भी सभी लोग इमानदार नहीं होंगे।


खुद का किया बचाव

जब उनसे संगठन में जुड़े होने को लेकर सवाल किया गया तो किसी को यह पता नहीं होता है कि उसके संगठन में कौन कैसा होता है। यहां भी यही बात लागू होती है। वह संगठन में थे, लेकिन अब जब उन्होंने गलत काम किया है तो अब आगे इस बात को देखा जाएगा कि उन्हें कोई जिम्मेदारी नहीं दी जाए। इस दौरान उपेंद्र कुशवाहा खुद को बचाने की मुद्रा में नजर आए।

कानून अपना काम करेगा

उपेंद्र कुशवाहा ने कहा सीएम की नीति साफ है कि वह न किसी को बचाते हैं और न ही किसी को बचाते हैं। अगर उन्होंने कोई गलत काम किया है, तो निश्चित रूप से उसे सजा मिलेगी। बाकि यह जांच टीम पता करेगी कि आखिरकार कैसे उस कॉलेज में सेंटर दिया गया था।

बता दें कि बीपीएससी पेपर लीक मामले में गिरफ्तार शक्ति कुमार सूबे की सत्तासीन पार्टी जदयू का नेता है। पूर्व में यह उपेंद्र कुशवाहा की पार्टी राष्ट्रीय लोक समता पार्टी का प्रदेश संगठन सचिव था।  बाद में रालोसपा का जदयू में विलय किए जाने के बाद उसने भी जदयू की सदस्यता ग्रहण कर ली थी। शक्ति कुमार गया में एक प्राइवेट कॉलेज का संचालन करता है। उसके ही कॉलेज से पेपर की कॉपी व्हाटसअप पर शेयर की गई थी।


Find Us on Facebook

Trending News