उपेन्द्र कुशवाहा ने सीएम नीतीश से किया सवाल, शिक्षा बजट में घोटाले से कैसे पढ़ेगा-बढ़ेगा बिहार

उपेन्द्र कुशवाहा ने सीएम नीतीश से किया सवाल, शिक्षा बजट में घोटाले से कैसे पढ़ेगा-बढ़ेगा बिहार

PATNA : बिहार के सरकारी स्कूलों में साइकिल योजना सहित कई कल्याणकारी योजनाओं में  गबन किए जाने की बात सामने आ रही है। शिक्षा विभाग खुद इस बात को स्वीकार कर रहा है। विभाग ने अफसरों से पूछा है कि लगता है कि आपने सरकारी राशि का गबन कर लिया है, इसीलिए आपको वेतन की जरुरत नहीं?

शिक्षा बजट में घोटाले से गरीब बच्चों का कैसे होगा उद्धार?

इस खबर के सामने आने के बाद आरएलएसपी अध्यक्ष उपेन्द्र कुशवाहा ने सीएम नीतीश को घेरा है। उपेन्द्र कुशवाहा ने सीएम नीतीश से पूछा है कि क्या शिक्षा बजट के इन्हीं घोटालों से बिहार के गरीब छात्रों का उद्धार होगा। उपेन्द्र कुशवाहा ने ट्वीट कर सीएम नीतीश से सवाल किया है कि इन घोटालों में सिर्फ अधिकारियों की नहीं बल्कि आपके सिपहसलारों की हिस्सेदारी होगी ऐसे में कैसे पढ़ेगा और कैसे बढ़ेगा बिहार?

क्या है मामला

दरअसल न्यूज4नेशन ने शनिवार को यह खुलासा किया था कि सभी जिलों में जो राशि भेजी गई थी, उसका हिसाब-किताब डीईओ-डीपीओ नहीं दे रहे हैं। बार-बार हिदायत और वेतन बंदी के बाद भी अधिकारी हिसाब नही दे रहे थे। इसके बाद 22 फरवरी को  माध्यमिक शिक्षा के निदेशक ने  डीईओ डीपीओ को आखिरी पत्र भेजकर पूछा है  कि  रिपोर्ट नहीं देने के पीछे अब यह शंका घर करने लगी है  की 2017-18  की इन लाभुक  योजनाओं की राशि का गबन किया गया है

10 दिनों में रिपोर्ट भेजें या कार्रवाई के लिए रहें तैयार

अब एक बार फिर से माध्यमिक शिक्षा के निदेशक ने 22 फरवरी को सभी डीपीओ और डीईओ को पत्र भेजकर कहा है कि लगता है कि आपने सरकारी राशि का गबन कर लिया है इसीलिए वेतन की जरूरत नहीं है।  शिक्षा विभाग के निदेशक ने 30 जिलों के डीईओ, डीपीओ को आदेश दिया है कि 10 दिनों के भीतर रिपोर्ट जमा करें वरना कार्रवाई के लिए तैयार रहें।

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News