कोरोना टेस्ट के लिए नवविवाहिता के घूंघट हटाने को लेकर मचा बवाल, गांव से जान बचाकर भागे स्वास्थ्यकर्मी

कोरोना टेस्ट के लिए नवविवाहिता के घूंघट हटाने को लेकर मचा बवाल, गांव से जान बचाकर भागे स्वास्थ्यकर्मी

ALIGARH : कोरोना जांच में नाक से सैंपल लिए जाते हैं, जिसके आधार पर रिपोर्ट तैयार किया जाता है। लेकिन इस सैंपल को लेकर जमकर बवाल हो गया। नतीजा यह हुआ सैंपल ले रहे स्वास्थ्यकर्मी किसी तरह से अपनी जान बचाकर भागने को मजबूर हो गए। इस घटना में दो कर्मी घायल भी हो गए। मामले में थाने में शिकायत के आधार पर पुलिस ने अपनी कार्रवाई शुरू कर दी है।

मामला यूपी के अलीगढ़ के टप्पल इलाके के साहा नगर सोरौला का है। यहां स्वास्थ्य विभाग की एक टीम ग्रामीणों का कोरोना टेस्ट करने के लिए गई हुई थी। सब कुछ ठीक ठाक चल रहा था। गांव के तमाम लोगों ने अपने एंटीजन टेस्ट कराएं और सैंपल स्वास्थ्य टीम को दिए। पुलिस अधिकारियों ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग की टीम गांव में कोरोना की जांच कर रही थी. गांव में करीब 37 से ज्यादा महिला और पुरुषों की कोरोना जांच कर ली गई थी  इस बीच वहां एक महिला टेस्ट कराने के लिए पहुंची। बताया गया कि महिला की नई नई शादी हुई है। इसलिए वह अपने चेहरे को घूंघट में ढंकी हुई थी। जांच टीम को नाक और मुंह से सैंपल लेने थे, इसलिए उन्होंने नवविवाहिता को अपना घूंघट हटाने के लिए कहा। लेकिन, मौके पर कई बुजुर्ग और युवकों के होने के कारण महिला ने घूंघट हटाने से इनकार कर दिया। 

नवविवाहिता की परेशानी को देखते हुए सैंपलिंग टीम ने वहां खड़े गांव के लोगों से हटने के लिए कहा, ताकि महिला का सैंपल लिया जा सका। यह बात युवकों के नागवार गुजरी और उन्होंने जांच टीम पर हमला कर उनकी पिटाई शुरू कर दी।  स्वास्थ्य विभाग के कई अधिकारियों को दौड़ा-दौड़ा कर पीटा. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के कागजात फाड़ दिए गए और जांच किट छीन लिए गए। इस घटना में दो स्वास्थ्य कर्मी घायल हो गए. स्वास्थ्यकर्मियों ने घटना की जानकारी पुलिस को दी है और रिपोर्ट दर्ज करवाई है.

Find Us on Facebook

Trending News