ड्रोन हमले में मारा गया अमेरिका का सबसे बड़ा सिरदर्द "अल कायदा प्रमुख अल जवाहिरी", राष्ट्रपति बायडेन ने की पुष्टि

ड्रोन हमले में मारा गया अमेरिका का सबसे बड़ा सिरदर्द "अल कायदा प्रमुख अल जवाहिरी", राष्ट्रपति बायडेन ने की पुष्टि

DESK : दो दशक से भी अधिक समय अमेरिका के लिए सिरदर्द रहे अल कायदा नेता अयमान अल-जवाहिरी अफगानिस्तान को सीआईए ने ड्रोन हमले में मारा गिराया है, अमेरिकी अधिकारियों ने सोमवार को बताया कि 2011 में इसके संस्थापक ओसामा बिन लादेन के मारे जाने के बाद से आतंकवादी समूह को ये सबसे बड़ा झटका है।संयुक्त राज्य अमेरिका नेजवाहिरी के सिर पर $ 25 मिलियन का इनाम भी रखा था।अमेरिका के राष्ट्रपति ने भी जवाहिरी के मारे जाने की पुष्टि की है।

वहीं, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन ने इस ऑपरेशन के संबंध में जानकारी दी.उन्होंने जवाहरी के मारे जाने की पुष्टि की। बाइडेन ने कहा कि शनिवार को मेरे निर्देश पर अफगानिस्तान के काबुल में सफलतापूर्वक ड्रोन स्ट्राइक की गई, इसमें अलकायदा का सरगना अयमान अल-जवाहिरी की मौत हो गई. अंतमें उन्होंने कहा- अब न्याय मिल गया है।

बाइडेन ने आगे कहा- अमेरिका अपने नागरिकों की रक्षा करता रहेगा और हमें नुकसान पहुंचाने की कोशिश करने वालों के खिलाफ संकल्प और क्षमता का प्रदर्शन करना जारी रखेंगे. आज हमने स्पष्ट किया है. चाहे कितना भी समय लगे। कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप कहां छिपने की कोशिश करते हैं. हम आपको ढूंढ निकालेंगे।

अमेरिकी अधिकारियों में से एक ने नाम ना छापने की शर्त पर बताया कि रविवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में CIA ने एक ड्रोन हमला किया था. प्रशासन के एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा- संयुक्त राज्य अमेरिका ने अफगानिस्तान में अलकायदा के खिलाफ आतंकवाद विरोधी अभियान चलाया है. ये ऑपरेशन पूरी तरह सफल रहा है और कोई नागरिक हताहत नहीं हुआ वहीं,अफगानिस्तान के गृह मंत्रालय के प्रवक्ता अब्दुल नफी ताकोर ने भी हमले की पुष्टि की, लेकिन उनका कहना है कि इस हमले में कोई हताहत नहीं हुआ था।

वर्ल्ड ट्रेड सेंटर पर हमले का था मास्टरमाइंड

मिस्र के डाक्टर और सर्जन अयमान अल- जवाहिरी ने 11 सितंबर, 2001 के हमलों में समन्वय स्थापित करने में मदद की, जिसमें चार नागरिक विमानों को अपहृत किया गया था और न्यूयार्क में वर्ल्ड ट्रेड सेंटर के ट्विन टावरों, वाशिंगटन के पास पेंटागन और एक पेंसिल्वेनिया क्षेत्र में गिरा दिया गया था, जिसमें लगभग 3,000 लोग मारे गए थे। अमेरिकी अधिकारियों में से एक ने कहा कि रविवार को अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में सीआईए द्वारा एक ड्रोन हमला किया गया था।

Find Us on Facebook

Trending News