एईएस को लेकर एक्शन मोड में वैशाली जिला प्रशासन, डीएम ने अधिकारियों को दिए कई निर्देश

एईएस को लेकर एक्शन मोड में वैशाली जिला प्रशासन, डीएम ने अधिकारियों को दिए कई निर्देश

VAISHALI : जिला समाहारणालय के सभागार में मंगलवार को जिलाधिकारी उदिता सिंह की अध्यक्षता में स्वास्थ्य और सम्बंधित विभागों के साथ समीक्षात्मक बैठक आहूत की गई। बैठक में जिलाधिकारी ने एईएस की वर्तमान स्थिति का जायजा लिया। साथ ही कहा की एईएस पर लोगों में जागरूकता के लिए हर संभव कोशिश की जाए। जिलाधिकारी  ने स्वास्थ्य विभाग और आईसीडीएस  को कहा की वे सभी आशा, आंगनबाड़ी कार्यकर्ता एवं जीविका द्वारा सघन जागरूकता अभियान चलाए। इसके साथ ही पंचायत  स्तर पर आरबीएसके के वाहन के द्वारा माइकिंग की व्यवस्था की जाए। इसके अलावे सघन जागरूकता अभियान चलाते हुए अतिरिक्त प्राथमिक स्तर तक चमकी बुखार के प्रति जागरूकता अभियान चलाया जाय। जिला शिक्षा पदाधिकारी को निर्देशित किया गया की वह विद्यालयों में जागरूकता अभियान चलाएंगे एवं सभी स्वास्थ्य संस्थानों में 24*7 डाक्टर एवं नर्स की उपस्थिति सुनिश्चित किया जाए।

सर्वे करने का निर्देश

जिलाधिकारी ने आशा और आगनबाड़ी कार्यकर्ताओ के द्वारा अपने पोषक क्षेत्र में 1से 15 वर्ष तक के बच्चों का सर्वे  करने का आदेश दिया और कहा की सर्वे में शामिल बच्चों का फ़ॉलोअप करते हुए हर घर में चमकी पर जागरूकता फैलाई जाए। वहीं स्वास्थ्य विभाग ग्रामीण चिकित्सक के साथ बैठक कर उन्हें चमकी पर जागरूक करते हुए  नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर रेफर करने के लिए प्रेरित करें।

प्राइवेट वाहन के शुल्क तय

जिलाधिकारी ने कहा कि प्राइवेट वाहन के तय शुल्क कि राशि सभी फैसिलिटी पर होनी चाहिए। जिसमें न्यूनतम 400 तथा अधिकतम 1000 की राशि है। इसके अलावा कंट्रोल रूम भी सुचारु रूप से चालू होने चाहिए। स्वास्थ्य केंद्र पर सभी चिकित्सकों को दर्पण प्लस एप्प पर उपस्थिति दर्ज़ करना अनिवार्य होगा।

एईएस पर विभाग सजग और सतर्क

समीक्षात्मक बैठक में सिविल सर्जन अखिलेश कुमार मोहन ने कहा कि स्वास्थ्य विभाग की तरफ से सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र  में तैयारी पूरी कर ली गयी है। सदर अस्पताल में जहां 15 बेड की व्यवस्था की गई है वहीं प्रत्येक प्रखंड में एईएस दो बेड की व्यवस्था भी की गई है। जिले के 125 डॉक्टर और 85 हेल्थ  स्टॉफ और 431 एएनएम को प्रशिक्षण दिया जा चूका है। सभी प्रखंडो में कंट्रोल रूम और प्राइवेट वाहन को टैग कर लिया गया है। वहीं रोस्टर के अनुसार चिकित्सक एवं पैरामेडिकल स्टॉफ की ड्यूटी भी लगी हुई है। मौके पर बैठक में जिलाधिकारी उदिता सिंह के साथ प्रभारी उप विकास आयुक्त संजय कुमार निराला,एसडीओ हाजीपुर अरुण कुमार, सिविल सर्जन, केयर डिटीएल सहित प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी एवं अन्य सम्बन्धित पदाधिकारी उपस्थित थे।

Find Us on Facebook

Trending News