मौत की वीडियो रिकॉर्डिंग, सनक कहिए या अवसाद

मौत की वीडियो रिकॉर्डिंग, सनक कहिए या अवसाद

NEWS4NATION DESK : सोशल मीडिया और मोबाइल फोन हमारे जीवन पर कितना प्रभावित कर रहा है इसकी बानगी कई घटनाओं के जरिए पहले भी देखने को मिल चुकी है। लेकिन भागलपुर के कहलगांव में जो वाक्य सामने आया है, उसने सबको चौंका कर रख दिया है। दरअसल शुक्रवार को कहलगांव में एक युवती ने अपने सुसाइड का लाईव वीडियो बनाया। युवती की जान तो चली गई लेकिन मोबाइल में उसकी आत्महत्या की पूरी घटना रिकॉर्ड हो गई।

क्या है पूरी घटना ? 

पूरा मामला भागलपुर के कहलगांव स्थित नदिया टोला की है जहां विनोद साह की बेटी ने शुक्रवार की शाम आत्महत्या कर ली। एसएसवी कॉलेज में इंटर की छात्रा रही प्रीति ने अपने कमरे की सीलिंग से लगी खूंटी में दुपट्टा लगाकर खुदकुशी की। आत्महत्या के दौरान उसने अपने मोबाइल फोन में रिकॉर्डिंग को ऑन कर दिया था। लगभग 15 मिनट से भी ज्यादा वक्त तक मोबाइल में रिकॉर्डिंग हुई जिसमें प्रीति की आत्महत्या का पूरा घटनाक्रम रिकॉर्ड है। इस घटना के बाद इलाके में सनसनी है पुलिस ने मोबाइल फोन को जप्त कर जांच शुरू कर दी है।

सनक या अवसाद !

इस तरह की घटनाएं पहले भी सामने आ चुकी हैं। सेल्फी लेते वक्त दुर्घटनाओं में लोग अपनी जान गवां चुके हैं। कई मामलों में तो खुदकुशी करने वालों ने घटना को अंजाम देने से पहले वीडियो रिकॉर्डिंग कर अपना आखिरी संदेश भी छोड़ा है। लेकिन ऐसी घटनाओं के बाद बड़ा सवाल यह है कि क्या इंसान सोशल मीडिया के प्रभाव में सनक का शिकार हो रहा या रोजमर्रा की परेशानियों से पैदा और अवसाद का नतीजा इस रूप में सामने आ रहा है।

Find Us on Facebook

Trending News