विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान मिले श्रेयसी और सुमित सिंह, जमुई के विकास पर हुई चर्चा

विधानसभा के मानसून सत्र के दौरान मिले श्रेयसी और सुमित सिंह, जमुई के विकास पर हुई चर्चा

JAMUI : 17 वीं विधानसभा के तृतीय सत्र के दौरान बिहार के दो दिग्गज राजनेताओं के वारिसों के बीच हुई मुलाकात की तस्वीर जैसे ही सोशल मीडिया पर वायरल हुई तो खासकर जमुई जिले में हर तरफ तरह-तरह की चर्चा होने लगी। दोनों के बीच मुलाकात हुई, क्या बात हुई. इसको लेकर जितनी जुबान उतनी बातें सुनने को मिलने लगी। लेकिन विधानसभा के प्रतीक्षालय में दोनों के बीच अनौपचारिक मुलाकात में जमुई जिला के समग्र विकास को लेकर बातचीत हुई।


जमुई के दो दिग्गज राजनेता एक बिहार सरकार के पूर्व कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह के पुत्र चकाई से निर्दलीय विधायक व बिहार सरकार के विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह और दूसरे पूर्व केंद्रीय मंत्री स्व. दिग्विजय सिंह की पुत्री गोल्डन गर्ल व जमुई से बीजेपी विधायक श्रेयसी सिंह के बीच की मुलाकात भले ही अनौपचारिक हो। लेकिन जैसे ही जमुई विधायक श्रेयसी सिंह ने उस तस्वीर को सोशल मीडिया पर साझा किया। वैसे ही इस तस्वीर को लेकर सब तरफ तरह-तरह की चर्चाएं होने लगी।श्रेयसी सिंह ने सोशल मीडिया पर इस तस्वीर को साझा करते हुए लिखा कि जनप्रतिनिधियों के बीच संवाद कायम होने से एक स्वस्थ और मजबूत लोकतंत्र का सृजन होता है। साथ ही नए विचारों का आदान-प्रदान सहज और सुगम होता है। वहीँ इस मुलाकात के बारे में विज्ञान एवं प्रावैधिकी मंत्री सुमित कुमार सिंह ने कहा कि छोटी बहन समान जमुई से बीजेपी विधायक श्रेयसी सिंह से विधानसभा सत्र के दौरान भेंट हुई, कुछ क्षेत्रीय मसलों पर बातें हुईं। उन्हें अपने नाम के अनुरूप जन सेवा का श्रेय और यश मिले, यह मेरी शुभकामना है। मंत्री सुमित कुमार सिंह ने कहा कि राजनीति उदारमना लोगों को शोभा देती है, उदारता विशालता की द्योतक है। लघुता तो सकीर्णता है। लकीर मिटाने में ऊर्जा जाया करना लघुता है तो अपने क्रियाकलाप, व्यवहार से बड़ी लकीर खींच जनता के दिल में अपने लिए अलग जगह सृजित करना उदारता है। इसी नजरिये से सियासत को अंगीकार करना श्रेयस्कर होता है। मुझे पूरी उम्मीद है श्रेयसी भी इसी पथ का अनुगमन करेगी। अभी तो शुरुआत हुई है।

उन्होनें कहा कि उनकी राजनीति जनता केंद्रित है। उनके जीवन स्तर में गुणात्मक बदलाव ही सियासत का मूल है। इसे विशेषज्ञ मानव विकास सूचकांक के तौर पर मापते हैं। इसमें संवर्द्धन किसी एक सांसद, विधायक के बस की बात नहीं है। इसमें जनप्रतिनिधियों, प्रतिपक्ष, जनता, शासन-प्रशासन सबका साथ-सहयोग आवश्यक है। इसके लिए मैं चकाई-सोनो में सतत प्रयत्नशील हूं, जमुई जिला समेत समस्त अंग क्षेत्र की उन्नति के लिए मैं वही भाव रखता हूं। इसमें सबों का साथ लेने को मैं उत्सुक रहता हूं। इसमें पक्ष-प्रतिपक्ष की सियासी सकीर्णता से ऊपर उठकर हर किसी का सहयोग का मैं हमेशा आकांक्षी रहता हूं। मुझे भरोसा है कि जमुई की विधायक का जमुई जिला और अंग क्षेत्र के उन्नयन के प्रति यही भावना है।

वहीं बीजेपी विधायक श्रेयसी सिंह ने कहा कि मुलाकात के दौरान जमुई विकास के मामले में किस तरह बिहार का रोल मॉडल बने इस पर चर्चा हुई। उन्होनें कहा कि चूंकि दोनों एक ही जिले से आते हैं इसलिए दोनों को जिला के विकास के लिए बराबर की चिंता है।

जमुई से राकेश कुमार की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News