बजट सत्र में पीटे जाने के बाद विधायक जी को विधानसभा जाने में लगता है डर, कहा स्पीकर के देखरेख में की गयी पिटाई

बजट सत्र में पीटे जाने के बाद विधायक जी को विधानसभा जाने में लगता है डर, कहा स्पीकर के देखरेख में की गयी पिटाई

PATNA : बिहार विधानसभा के बजट सत्र में विपक्षी पार्टियों के साथ मारपीट हुई थी. जिसमें कई विधायक गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे. अब 26 जुलाई से फिर सदन का मानसून सत्र शुरू होनेवाला है. विधानसभा अध्यक्ष भले विधायकों से नहीं डरने की अपील कर रहे हैं. लेकिन विधायक विधानसभा जाने से डर रहे हैं. राजद विधायक सतीश दास ने कहा की जिस तरह से पिछली बार हमलोगों पर हमला हुआ है. उससे अभीतक हमलोग डरे हुए हैं. अन्दर प्राइवेट गुंडा और बाउंसर बुलाकर जानलेवा हमला किया गया. इस मामले में अभी तक स्पीकर से अभीतक कोई जवाब नहीं मिला है. सरकार ने भी अभीतक उस घटना के लिए माफ़ी नहीं मांगी है. 

उन्होंने कहा की हमलोग लोकतान्त्रिक प्रक्रिया से अपनी बात रख रहे थे. लेकिन चोर दरवाजे से आई सरकार ने हमलोगों पर हमला किया. हमें गंभीर चोट लगी थी. इसके बावजूद सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं किया.

विधानसभा अध्यक्ष के आश्वासन पर सतीश दास ने कहा की 23 मार्च को भी विजय सिन्हा ही अध्यक्ष थे. उस समय बाहरी गुंडा बुलाकर विधायकों को पीटा गया. उन्हीं के देखरेख में हमलोगों की पिटाई की गयी. इनके स्पीकर रहते विधानसभा में पुलिस गयी थी. इसकी जिम्मेवारी किसकी है, नीतीश कुमार की स्पीकर की. दोनों तय कर लें. 

पटना से रंजन की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News