समाधान यात्रा को लेकर CM पर बरसे विजय सिन्हा, जनता के पैसे पर पिकनिक मना रहे मुख्यमंत्री बताएं क्या उपलब्धि हासिल की ?

समाधान यात्रा को लेकर CM पर बरसे विजय सिन्हा, जनता के पैसे पर पिकनिक मना रहे मुख्यमंत्री बताएं क्या उपलब्धि हासिल की ?

PATNA : बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने जब से समाधान यात्रा शुरू किया है। तब से लगातार उन्हें राजद के साथ भाजपा की कई तरह के आरोप लगाए जा रहे हैं। जहां राजद नेता शिवानंद तिवारी ने यात्रा को लेकर कहा था कि इसका कोई फायदा नहीं है क्योंकि सीएम को वही दिखाया जाता है, जो प्रशासन के अधिकारी दिखाते हैं. वहीं राजद की दूसरे नेता ने कहा था नीतीश कुमार का हर बार यात्रा पर निकलना बताता है कि उनका काम अभी तक अधूरा है। वहीं अब इस मामले में विस में नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने समाधान यात्रा के औचित्य पर ही सवाल उठा दिए हैं। उन्होंने नीतीश कुमार की यात्रा को पिकनिक करार दिया है। विजय कुमार सिन्हा ने कहा जनता की कमाई से अपनी पिकनिक मनाना तत्काल बंद करें।

विजय कुमार सिन्हा ने कहा आज सीएम भोजपुर जा रहे हैं। साथ में जिले के प्रभारी मंत्री तेजस्वी यादव भी मौजूद रहेंगे। लेकिन मेरा सवाल है जिसे वह समाधान यात्रा बता रहे हैं, उसकी  उपलब्धि क्या रही। क्योंकि इससे जनता का कोई फायदा नहीं हो रहा है। सिर्फ पैसे की बर्बादी हो रही है। अधिकारी मालामाल हो रहे हैं। विजय कुमार सिन्हा ने कहा कि हर दिन की यात्रा पर डेढ़ से दो करोड़ रुपए खर्च होते हैं। जो जनता की गाढी कमाई से किए जा रहे हैं। नीतीश कुमार को अपनी इस यात्रा को लेकर क्या उपलब्धी रही और कितना खर्च हुआ, इसको लेकर श्वेत पत्र जारी करें।

भोजपुर को बनाया अपराध का गढ़

विजय कुमार सिन्हा ने नीतीश कुमार के भोजपुर दौरे को लेकर बड़ा हमला किया। उन्होंने कहा कि आरा में दिसंबर तक सिर्फ कुछ दिन में दर्जनों लोगों की हत्याएं हुई हैं। लेकिन महागठबंधन की सरकार बनने के बाद नीतीश कुमार ने जिले की किसी घटना के बारे में कोई सुध नहीं ली। यहां के प्रभारी मंत्री तेजस्वी यादव हैं, लेकिन जबसे उन्हें यह जिम्मेदारी मिली है, उसके बाद अपराधी सक्रिय हो गए हैं। बालू माफियाओं का राज कायम हो गया है। यहां प्रशासन से सांठ गांठ कर बालू वाले क्षेत्रों में अवैध कब्जा कर लिया गया है। आरा-छपरा पुल की स्थिति ऐसी है कि शायद ही कोई दिन ऐसा होगा, जब यहां जाम नहीं लगता हो। मेडिकल कॉलेज निर्माण की घोषणा हुए कई साल बीत गए हैं, लेकिन अब तक इस पर कोई काम शुरू नहीं हुआ है।


Find Us on Facebook

Trending News