नीतीश को विजय सिन्हा का करारा जवाब, जातीय जहर फैलाकर बरगलाने का खेल मत खेलिए, करार जवाब देगी जनता

नीतीश को विजय सिन्हा का करारा जवाब, जातीय जहर फैलाकर बरगलाने का खेल मत खेलिए, करार जवाब देगी जनता

पटना. नेता प्रतिपक्ष विजय कुमार सिन्हा ने गुरुवार को कहा कि अपराध की कोई जाति नहीं होती है. अपराध और अपराधी के साथ किसी तरह का प्रत्यक्ष या परोक्ष सहानुभूति नहीं होनी चाहिए. ऐसे में राज्य में सत्तासीन लोगों द्वारा अपराध की घटनाओं को जाति से जोड़कर पेश किया जाना अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण है. उन्होंने बेगूसराय गोलीकांड में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की उस टिप्पणी पर आपत्ति जताई जिसमें उन्होंने कहा कि जिस इलाके में गोलीकांड हुआ वहां मुस्लिम और पिछड़ा वर्ग के लोग ज्यादा हैं. 

विजय सिन्हा ने कहा कि जातीय मुद्दा आगे लेकर मामले को भटकाने का प्रयास नहीं करें. इस मामले में गम्भीरता दिखाने की जरूरत है. नीतीश कुमार सिस्टम में टॉप लेवल पर बैठे लोगों में जब तक परिवर्तन नहीं करेंगे तब तक अपराध पर कितनी भी समीक्षा बैठक कर लें उससे कोई बदलाव नहीं होगा. अपराध की घटना के बाद कुछ पुलिसकर्मियों को निलंबित करने से अपराध नियन्त्रण नहीं होगा बल्कि जिम्मेदार और जवाबदेह अधिकारियों पर कार्रवाई हो. 

उन्होंने कहा कि तेजस्वी यादव का नाम लिए बिना कहा कि पहले जो नेता प्रतिपक्ष के रूप में बैठे थे वे तब अपराध होने के बाद भी कहीं नहीं जाते थे. लेकिन, नीतीश से उम्मीद थी कि घटना होने पर वे त्वरित कार्रवाई करेंगे. हालांकि लखीसराय, बेगूसराय, समस्तीपुर, सीतामढ़ी में बलात्कार, डकैती जैसी कई घटनाएं हुई लेकिन कोई कार्रवाई नहीं हुई. उस पर जातीय जहर फ़ैलाने की कोशिश की जा रही है. 

घटना के लिए अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करने की बात करते हुए उन्होंने कहा कि भ्रष्ट अधिकारियों पर कार्रवाई और जिम्मेदारी तय हो. नीतीश कुमार पर निशाना साधते हुए कहा कि जातीय जहर को फैलाकर लोगों को बरगलाने का खेल खेलेंगे तो उसमें बिहार की जनता उन्हें सफल होने नहीं देगी.

Find Us on Facebook

Trending News