विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद वायरल ऑडियो उगल रहे हैं राज, वर्दी वालों से थी अच्छी सेंटिंग, SSP तक को पहुंचाता था माल

विकास दुबे के एनकाउंटर के बाद वायरल ऑडियो उगल रहे हैं राज, वर्दी वालों से थी अच्छी सेंटिंग, SSP तक को पहुंचाता था माल

DESK : कानपुर का गैंगस्टर विकास दुबे को तो एसटीएफ ने एनकाउंटर में मार गिराया लेकिन विकास दुबे की मौत के बाद कई राज वायरल ऑडियो के जरिए बाहर आ रहे हैं.इन वायरल ऑडियो से यह अंदाजा लगाया जा सकता है कि विकास दुबे की वर्दी वालों से कितनी अच्छी सेटिंग थी. कुछ नए वायरल ऑडियो से यूपी के पुलिस महकमे में हड़कंप मचा हुआ है.

इस बार शहीद सीओ देवेन्द्र मिश्रा और एसपी ग्रामीण की बातचीत का एक ऑडियो वायरल हुआ. इसमें सीओ इस बात की आशंका जता रहे हैं कि पूर्व एसओ ने दबिश की जानकारी विकास दुबे दे दी होगी. वायरल ऑडियो में सीओ यह भी आरोप लगा रहे हैं कि पूर्व कप्तान को पांच लाख रुपए दिए गए थे. इसके अलावा सीओ की पूर्व एसओ विनय तिवारी के बीच बातचीत की दो ऑडियो क्लिप और वायरल हो हुई है.ये वायरल ऑडियो की क्या सच्चाई है इसका दावा नहीं किया जा सकता.

वायरल ऑडियो में सीओ ने एसपी ग्रामीण को बताया कि उसने ही (पूर्व एसओ) विकास दुबे को दबिश की जानकारी दे दी होगी. वह इसलिए नहीं जा रहा क्योंकि उससे कहेगा कि सीओ ने फोर्स लेकर दबिश मारी थी. उन्होंने एसपी ग्रामीण को यह भी बताया कि अब तक एसओ ने फोन करके कह दिया होगा कि दबिश पड़ने वाली है भाग जाओ.


शहीद सीओ देवेन्द्र मिश्रा और एसपी ग्रामीण के बीच की बातचीत के वायरल ऑडियो में सीओ कह रहे हैं कि वादी राहुल तिवारी और आरोपित विकास दुबे का गांव आसपास ही है. दोनों एक ही गांव के हैं, समझ लीजिए. इस पर एसपी ग्रामीण कहते हैं कि गांव में फोर्स लगाने की जरूरत पड़ेगी. सीओ उन्हें बता रहे हैं कि एसओ विनय तिवारी ने कहा है कि बगैर आपके (सीओ) दबिश देने नहीं जाएगा. सीओ एसपी को बताते हैं कि एसओ विनय तिवारी विकास दुबे के पैर छूता है. इस वायरल ऑडियो में एसपी ने कहा ऐसा है. तब सीओ ने कहा कि एसओ कहता है कि अपराधी ही अपराधी की सूचना देता है साहब. इसके बाद सीओ ने यह भी कहा कि साहब इसकी यही हरकते थाने में दो चार को मरवा देगी.

Find Us on Facebook

Trending News