सुपौल में दवा व्यवसायी की हत्या के बाद ग्रामीणों का फूटा गुस्सा, सड़क जाम कर किया जमकर हंगामा

सुपौल में दवा व्यवसायी की हत्या के बाद ग्रामीणों का फूटा गुस्सा, सड़क जाम कर किया जमकर हंगामा

SUPAUL : जिले के प्रतापगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत दुअनिया नहर के पास लगातार एक ही स्थान पर कुछ ही दिनों के अंतर में दोबारा हुई ताबड़तोड़ फायरिंग कर दो - दो हत्याओं ने आम जनो को हिला कर रख दिया है। ऐसा लग रहा है कि सुपौल अपराधियों का गढ़ बन गया है। देर रात जिले के प्रतापगंज में एनएच 57 पर दुअनिया नहर के पासअपराधियों ने गोली मारकर दवा व्यवसायी के पुत्र के हत्या के विरोध में स्थानीय लोगों ने राघोपुर थाना क्षेत्र के सिमराही बाजार में एनएच 57 व एनएच 106 को घंटों जाम कर दिया। जिससे लगभग 20 किलोमीटर तक गाड़ी की लंबी कतार लग गयी। अक्रोशित लोग अपराधियों के गिरफ्तारी की मांग कर रहे हैं। सड़क जाम से बाजार में आवाजाही पूरी तरह ठप्प हो गई। 

मिली जानकारी के मुताबिक दवा व्यवसायी के पुत्र जो फारबिसगंज से अपने घर सिमराही लौट रहा था। इसी दौरान दुअनिया नहर के पास अपराधियों ने घेर कर उसे गोली मार दी। इसके बाद उसकी मौत हो गई। मृतक अभिषेक कुमार साह सिमराही में अपने पिता के साथ दवा का व्यवसाय किया करता था। वह हरियाणा में एमटेक कर रहा था। लॉकडाउन में अपने घर आया था, जहां मृतक अभिषेक की हत्या हुई है। 

बता दें की करीब दस दिनों पहले प्रतापगंज के पूर्व प्रमुख के भाई का भी गोली अपराधियों ने उसी जगहों पर मारकर घटना को अंजाम देकर मोत के घाट उतार दिया था। जबकि उस घटना में भी ग्रामीणों ने अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए रोड जाम किया था। लेकिन उस मामले का अभी तक पुलिस गुथ्थी सुलझा नही पाई है। एक बार फिर अपराधियों ने सुपौल पुलिस को खुली चुनौती देते हुए घटना को अंजाम दिया है। ग्रामीणों के द्वारा रोड जाम की खबर सुनते ही बीरपुर एसडीओ, डीएसपी, त्रिवेणीगंज डीएसपी गनपती ठाकुर ,सुपौल डीएसपी सहित कई थाने के प्रभारी पुलिस इंस्पेक्टर सहित जाम स्थल पर  पहुंचे और लोगों समझा बुझा कर जाम को हटाया। अपराधियों को 48 घंटे के अंदर गिरफ्तार करने की बात कही। तब जा कर बाजार के सभी दुकान  को खोला गया। जाम स्थल पर शत्रुघ्न प्रसाद चौधरी जिला अध्यक्ष राष्ट्रीय वैश्य महासभा सुपौल, पूर्व प्रमुख महेंद्र गुप्ता, व्यापार संघ अध्यक्ष सिमराही ललित जयसवाल, सहित कई व्यापारी प्रतिनिधि शामिल थे। स्थल पर पहुंचे पुलिस से जब  पत्रकारों ने सवाल किया तो मीडिया से  बचते हुए पुलिस चल दिए। अब देखने वाले बात होगी की सुपौल पुलिस कब तक अपराधियों गिरफ्तार कर पाती हैं।  

सुपौल से पप्पू आलम की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News