बगहा में ग्रामीणों ने इंजीनियर का किया घेराव, फ्लड फाईटिंग के नाम पर संवेदकों का जेब भरने का आरोप

बगहा में ग्रामीणों ने इंजीनियर का किया घेराव, फ्लड फाईटिंग के नाम पर संवेदकों का जेब भरने का आरोप

BAGAHA : चार दिनों तक लगातार हुई बारिश के बाद जहाँ बिहार के कई नदियों में जलस्तर बढ़ रहा है. वहीँ बगहा में गंडक नदी के जलस्तर में कमी आ रही है. जलस्तर कम होने से कटाव थमा है, जिससे लोगों ने राहत की सांस ली है. उधर ग्रामीणों ने अभियंताओ को घेरकर तटबन्ध बचाने के नाम पर फ्लड फाईटिंग कार्य में हुए धांधली के जांच की मांग की है. लोगों का कहना है कि गंडक नदी के जलस्तर में भारी गिरावट आने के बाद नदी का धारा अब शान्त होने लगा है. इसके बावजूद अमवा खास तटबन्ध बचाने नाम पर बिहार के अभियंताओ द्वारा फ्लड फाईटिंग कर संवेदकों के जेब भरने का कार्य निरन्तर जारी है. गुरुवार को नदी का शांत रूप होने और बचाव के नाम पर हो रहे धांधली को देखते हुए प्रखण्ड क्षेत्र के दर्जन भर लोगो ने वरीय अभियंताओ को घेर कर बचाव कार्य के नाम पर धांधली को तत्काल रोकने व अबतक हुए कार्यो का जांच करने की मांग की. ग्रामीण नवीन तिवारी, सतेंद्र तिवारी, संजय तिवारी, सतन यादव, अनिल पाल, मनमोहन तिवारी , नन्दलाल यादव, संदीप राम, राहुल मद्धेशिया, मदन यादव, जयप्रकाश कुशवाहा, अजय यादव, अम्बिका यादव और जगिराहा पंचायत्त के मुखिया भीखम मांझी सहित दर्जन भर लोगो ने तटबन्ध पर तैनात बाढ़ एक्सपर्ट इंजीनियर अब्दुल हामीद, अधीक्षण अभियन्ता अशोक कुमार रंजन, कार्यपालक अभियन्ता रमेंद्र सिंह को घेर लिया. उन्होंने तटबन्ध बचाने के नाम पर चल रहे लूट खसोट पर तत्काल विराम लगाते हुए कनीय अभियंता अर्जुन कुमार गुप्ता को जीएच प्रभाग से तत्काल हटाने की मांग की. 

ग्रामीणों ने बताया कि जब नदी शान्त है तो बेकार में सरकार की राशि तटबन्ध बचाने के नाम पर खपाने का काम किया जा रहा है. संवेदक दिन भर काम करते है और शाम को कनीय अभियन्ता अर्जुन प्रसाद से मिलने कैम्प पर पहुँच रहे है. उनके बिलिंग मीटर का रफ्तार बढ़ रहा है. कारण है कि कार्य में अनियमितता को ले मंगलवार को ग्रामीणों के विरोध के बाद उक्त अभियन्ता को कार्य स्थल से हटाकर कैम्प में एनआर करने व संवेदकों को सामग्री देने की जिम्मेदारी सौप दी गयी है. ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि यदि एनआर की जांच हो तो सब हकीकत सामने आ जायेगा. ग्रामीणों ने बताया कि अभियंता अर्जुन प्रसाद गुप्ता काफी दिनों से जीएच प्रभाग में जमे हुए है. जिनका स्थानीय संवेदकों से पैठ बन गया है और वे संवेदकों के मिली भगत से लूट खसोट का काम कर रहे है. 

यदि तत्काल प्रभाव से उन्हें नहीं हटाया गया तो ग्रामीण आंदोलित होंगे. लोगो के आरोप को गंभीरता से लेते हुए अधीक्षण अभियन्ता ने बताया कि कार्य वरीय अभियंताओ के देख रेख में हुआ है. उसके बाद भी उनके द्वारा कार्यो के एनआर की बारीकी से जांच की जाएगी. यदि किसी प्रकार की गड़बड़ी पाई गयी तो सम्बंधित अभियन्ता पर कार्रवाई तय है. उन्होंने बताया कि अभियन्ता अर्जुन प्रसाद की शिकायत उन्हें मिली है. उनको जीएच प्रभाग से हटाया जाएगा. वही एक्सपर्ट अब्दुल हामिद ने बताया कि तटबन्ध बिलकुल सुरक्षित है. फ़िलहाल एनसी, जियोबैग, ग्रेबियन आदि कार्यो का जरूरत नहीं देखते हुए तत्काल रोक लगाई जा रही है. तटबन्ध के 8 किमी से डाउन में व पैक्स गोदाम के अप स्ट्रीम में हल्का क्षरण हो रहा है, जिसको बम्बू रोल डाल कर तटबन्ध सुरक्षित होने की सूचना विभाग को दी जा रही है. 

बगहा से माधवेन्द्र पाण्डेय की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News