पंचायत चुनाव को लेकर हिंसा: वोट के बर्चस्व को लेकर दो गुटों में हुई मारपीट, कई लोग घायल

 पंचायत चुनाव को लेकर हिंसा: वोट के बर्चस्व को लेकर दो गुटों में हुई मारपीट, कई लोग घायल

गया. जिले के इमामगंज प्रखंड के गुरिया पंचायत में बीती रात निवर्तमान मुखिया ने अपने समर्थक के साथ एक व्यक्ति के घर में घुस कर जदयू प्रखंड अध्यक्ष बृजनंदन प्रसाद और उसके समर्थक राधारमण पांडे को मार पीट का मामला सामने आया, जो मामला थाना पहुँचा. वहीं संबंधित मामले में दोनों पक्ष की ओर से केस दर्ज कराया गया है. इमामगंज थाना प्रभारी नैय्यर एजाज अहमद ने बताया कि मामले की जांच चल रही है. जाँच के उपरांत दोषियों पर करवाई की जाएगी. फिलहाल पीड़ितों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है.

दोनों मुखिया प्रत्याशी का आरोप है कि एक दूसरे के वोटर को भड़काया व धमकाया जा रहा है. इसी बीच बीती रात बृजनंदन प्रसाद अपने समर्थक राधारमण पांडे के घर कुछ कागजात तैयार कर रहे थे. बृजनंदन का आरोप है कि कागजात तैयार करने के दौरान ही कुछ लोगों ने बिजली काट दी और राधारमण के घर पर हमला बोल दिया. हमला करनेवालों में मुखिया टीमन सिंह व उसके समर्थक थे. मुखिया और उसके समर्थक मारपीट करने लगे. इससे राधारमण का एक कान बुरी तरह से लहुलूहान हो गया. वहीं बृजनंदन प्रसाद भी बुरी तरह घायल हो गए और हाथ मे भी काफी चोटें आई हैं.

बृजनंदन प्रसाद का कहना है कि आश्चर्ज की बात है कि जब घटना की सूचना इमामगंज पुलिस को दी गई तो समय पर नहीं पहुंची. उसके बाद इमामगंज प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में प्राथमिक उपचार के बाद मगध मेडिकल कॉलेज अस्पताल रेफर कर दिया गया. इस पर इमामगंज थाना प्रभारी ने बताया कि संबंधित मामले में दूसरे पक्ष से भी मारपीट व धमकाने का आवेदन आया है. जांच चल रही है.

वहीं दूसरे पक्ष मुखिया टिमहन सिंह ने बताया के वे पंचायत में हमेशा लड़ाई का माहौल बनाए रहते हैं. जिनसे जनता बहुत परेशान रहती है. उसके बाद जदयू नेता सह मुखिया उमीदवार बृजनंदन प्रसाद हमपर हमेशा जाल साजिश रचते रहते हैं, ताकि वे चुनाव जीत सकें. जब मैं उनकी हर हरकत को नज़र अंदाज़ करता रहा तो उन्हें बर्दाश्त नहीं हुआ, तो वे अपने गांव से दल बल के साथ देर रात्रि मेरे गांव मुझे जान मारने की नीयत से पहुंचे, जहां गांव के स्थानिय लोग मेरे बचाव के लिए पहुंचे, उसी धक्का मुक्की में चोट आने पर उल्टा हमारे पर ही आरोप लगा दिया.

उन्होंने कहा कि इसके बाद हमने थाना को सूचित किया और आवेदन भी दिया हूँ. साथ ही टीमहन मुखिया ने बताया के इसकी न्यायिक जांच होनी चाहिए के मेरे घर से उनके घर की दूरी करीब 500 मीटर है. फिर वे मेरे घर क्यों आए. हमें जान माल का खतरा है.


Find Us on Facebook

Trending News