जदयू को आर्थिक मजबूती देने की कवायद, 22 जनवरी के स्वैच्छिक सहयोग राशि संग्रह अभियान की होगी शुरुआत

जदयू को आर्थिक मजबूती देने की कवायद, 22 जनवरी के स्वैच्छिक सहयोग राशि संग्रह अभियान की होगी शुरुआत

PATNA : जदयू के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजीव रंजन सिंह उर्फ ‘ललन सिंह" के निर्देश पर आज ‘‘स्वैच्छिक सहयोग राशि संग्रह अभियान’’ को लेकर वर्चुअल माध्यम से बिहार प्रदेश जदयू की महत्वपूर्ण बैठक हुई। प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा की अध्यक्षता में आयोजित इस बैठक में सभी जिलाध्यक्ष, जिला प्रभारी एवं जिला संग्रह प्रभारी मौजूद रहे। बैठक को मुख्य रूप से प्रदेश अध्यक्ष कुशवाहा एवं विधान पार्षद व प्रदेश कोषाध्यक्ष ललन सर्राफ ने संबोधित किया। जबकि पार्टी के सांसदगण, विधायकगण, विधान पार्षदगण समेत राष्ट्रीय सचिव रवीन्द्र प्रसाद सिंह, प्रदेश उपाध्यक्ष डाॅ0 नवीन आर्य चन्द्रवंशी, मुख्यालय महासचिव मृत्युंजय कुमार सिंह, सचिव मनीष कुमार, वासुदेव कुशवाहा एवं अन्य वरीय पदाधिकारी तथा दल के वरिष्ठ साथी मौजूद रहे।

बताते चले की पार्टी ने गत वर्ष जुलाई में राज्यव्यापी ‘स्वैच्छिक’ सहयोग राशि संग्रह ‘अभियान’ का निर्णय लिया था, जिसे कई जिलों में बाढ़ की तत्कालीन विभीषिका को देखते हुए स्थगित कर दिया गया था। इस बीच हुए उपचुनाव एवं अन्य सांगठनिक कार्यक्रम के बाद अब यह निर्णय लिया गया है कि विगत वर्ष से स्थगित उक्त अभियान को शुरू किया जाय, जिससे पार्टी का अर्थतंत्र मजबूत हो। पार्टी के विभिन्न सांगठनिक कार्यों, अन्य राज्यों में संगठन विस्तार एवं चुनाव, जनसरोकार के मुद्दों पर बडे़ अभियान तथा 2024 के लोकसभा एवं 2025 के विधानसभा चुनाव को ध्यान में रखते हुए यह अत्यावश्यक है। प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने 22 जनवरी 2022 से इस अभियान को शुरू करने की घोषणा करते हुए कहा कि राष्ट्रीय पार्टी का दर्जा हासिल करने एवं लम्बी दूरी तय करने के लिए जरूरी है कि पार्टी आर्थिक रूप से भी मजबूत हो। हमारे कार्यकर्ता ही हमारी पूंजी हैं और वही पार्टी को आर्थिक रूप से भी मजबूत करेंगे। बडे़ लक्ष्य के लिए पार्टी को संसाधनों से लैस करना जरूरी है। इसके लिए पार्टी के जिलाध्यक्ष, जिला प्रभारी एवं जिला संग्रह प्रभारी के साथ ही पार्टी के सभी मंत्री, सांसद, विधायक, विधानपार्षद, पूर्व सांसद, पूर्व विधायक, पूर्व विधान पार्षद, पार्टी प्रत्याशी एवं संभावित उम्मीदवारों को खास जिम्मेदारी मिलेगी। पार्टी का यह अभियान ऐतिहासिक रूप से सफल होगा।

अपने संबोधन के दौरान प्रदेश अध्यक्ष उमेश सिंह कुशवाहा ने अभी हाल ही में सम्राट अशोक के खिलाफ की गई अमर्यादित टिप्पणी की निन्दा की और दयाप्रकाश सिन्हा के विरुद्ध शीघ्र कार्रवाई की मांग की। 24 जनवरी को मनाई जाने वाली कर्पूरी जयंती के संदर्भ में उन्होंने कहा कि इसे सभी जिला एवं प्रखंड मुख्यालयों में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए मनाएं। प्रकोष्ठों के गठन के संदर्भ में उन्होंने कहा कि शीर्ष नेतृत्व से विमर्श कर शीघ्र ही इस कार्य को पूरा कर लिया जाएगा। साथ ही उन्होंने कहा कि दल के समर्पित एवं निष्ठावान कार्यकर्ताओं को बहुत जल्द प्रोत्साहित किया जाएगा।

विधान पार्षद एवं प्रदेश कोषाध्यक्ष ललन सर्राफ ने अपने संबोधन में उक्त अभियान पर प्रकाश डालते हुए कहा कि यह अभियान पूर्ण रूप से स्वैच्छिक सहयोग पर आधारित होगा। रसीद, कूपन एवं ऑनलाइन माध्यम से सहयोग राशि का संग्रह किया जाएगा। इस अभियान में प्रदेश से बूथ स्तर तक की कमिटियों, प्रकोष्ठों के सभी स्तर की कमिटियों तथा लाखों क्रियाशील एवं प्राथमिक सदस्यों की महत्वपूर्ण भूमिका होगी। हर गांव में10 समर्पित साथियों की सूची तैयार करने का अभियान पहले से चल रहा है। दल के समर्थन में आधी आबादी की बड़ी फौज है। सबके सहयोग से हम अपने लक्ष्य को हासिल करेंगे।


Find Us on Facebook

Trending News