लोकसभा चुनाव के छठे चरण में बिहार की 8 सीटों पर मतदान, करीब 1 करोड़ 36 लाख मतदाता करेंगे प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला

लोकसभा चुनाव के छठे चरण में बिहार की 8 सीटों पर मतदान, करीब 1 करोड़ 36 लाख मतदाता करेंगे प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला

PATNA :  लोकसभा चुनाव के छठे चरण में बिहार की 8 सीटों पर मतदान को लेकर तैयारियां पूरी कर ली गई है। संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी प्रवीण कुमार गुप्ता ने संवाददाता सम्मेलन के दौरान बताया कि प्रदेश में पिछले पांच चरणों का चुनाव सफलतापूर्वक संपन्न करा लिया गया है। अब छठे चरण में आने वाले आठ संसदीय क्षेत्रों में मतदान की तैयारी चल रही है।

 छठे चरण में वाल्मीकि नगर, पश्चिम चंपारण, पूर्वी चंपारण, शिवहर, वैशाली, गोपालगंज, सिवान एवं महाराजगंज में मतदान होना है। संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी ने बताया कि इन सभी संसदीय क्षेत्रों के लिए पोलिंग पार्टी का गठन कर लिया गया है। इन सभी का पहले व दूसरे स्टेज का प्रशिक्षण चल रहा है। इसके बाद तीसरा व अंतिम प्रशिक्षण वोटिंग के दो दिन पहले जब पोलिंग पार्टी 10 मई को रिपोर्ट करेगी, उस दिन दिया जाएगा। इस प्रशिक्षण में उन्हें इवीएम का हैंड्स ऑन ट्रेनिंग देते हैं। ट्रेनिंग के पश्चात् उन्हें मतदान कराने के लिए अन्य सामग्रयिां भी दी जाएंगी।

   आठों संसदीय क्षेत्र में मतदाताओं की संख्या के बारे में गुप्ता ने बताया कि इस चरण में कुल 1 करोड़ 36 लाख 576 वोटर्स हैं। जिसमें पुरूष मतदाताओं की संख्या 7305983 है। वहीं महिला मतदाताओं की संख्या 6496117 है। थर्ड जेंडर मतदाताओं की संख्या 476 है। 

आगे उन्होंने गत 06 मई को मतदान के दिन मुजफ्फरपुर में हुए इवीएम की घटना पर कहा कि जिला निर्वाचन पदाधिकारी से रिपोर्ट प्राप्त कर ली गई है। रिपोर्ट में पाया गया कि इवीएम हर समय दंडाधिकारी एवं पुलिस की अभिरक्षा में रहा। लेकिन सेक्टर दंडाधिकारी के द्वारा जो लापरवाही बरती गई। इसके लिए सेक्टर दंडाधिकारी-11 एवं सहकारिता प्रसार पदाधिकारी अवधेश कुमार को जिला निर्वाचन पदाधिकारी ने तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया है। इस विषय में  सहकारिता विभाग के प्रधान सचिव को भी प्रतिवेदित कर दिया गया है। वहीं वरीय पुलिस निरीक्षक, मुजफ्फरपुर ने सहायक अवर निरीक्षक बृजलाल प्रसाद, सिपाही रविंद्र राम, रामानंद चैधरी, रविंद्र कुमार को निलंबित कर दिया है। उन्होंने कहा कि सभी सेक्टर दंडाधिकारी को किसी भी पोलिंग बूथ पर इवीएम खराब हो जाने की स्थिति में, उसे रिप्लेस करने के लिए रिजर्व इवीएम दिया जाता है।

  मतदान केंद्रों पर बुनियादी सुविधा के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने ने बताया कि प्रत्येक निर्वाचन केंद्र पर न्यूनतम बुनियादी सुविधा उपलब्ध कराने के लिए भारत निर्वाचन आयोग का आदेश है। तदअनुसार सभी जिलों में जिला निर्वाचन पदाधिकारी से समन्वय कर सभी मतदान केंद्र पर बुनियादी सुविधा जैसे रैंप, वोटर्स के लिए व्हील चेयर, शौचालय, पेयजल एवं पृथक् निकास व प्रवेश द्वार आदि सुविधा उपलब्ध कराने के संबंध में निर्देश दिया जा चुका है।

Find Us on Facebook

Trending News