137 साल के कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए होगी वोटिंग, ढाई दशक बाद गांधी परिवार से कोई नहीं होगा दावेदार

137 साल के कांग्रेस में अध्यक्ष पद के लिए होगी वोटिंग,  ढाई दशक बाद गांधी परिवार से कोई नहीं होगा दावेदार

NEW DELHI : देश की सबसे पुरानी पार्टी के लिए आज का दिन नया इतिहास लिखने वाला है। आज कांग्रेस के नए राष्ट्रीय अध्यक्ष पद के लिए चुनाव होनेवाले हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं मल्लिकार्जुन खड़गे और शशि थरूर के बीच अध्यक्ष पद के लिए रेस है। कांग्रेस के 137 साल के इतिहास में अध्यक्ष पद के लिए छठी बार चुनावी मुकाबला हो रहा है। अध्यक्ष पद के लिए अंतिम बार चुनाव 22 साल पहले हुए थे। जबकि 24 साल बाद कोई गांधी परिवार से बाहर का अध्यक्ष होगा

9000 लोग करेंगे वोट

इस चुनाव में प्रदेश कांग्रेस समितियों (पीसीसी) के 9,000 से अधिक प्रतिनिधि गुप्त मतदान के जरिये पार्टी के नये अध्यक्ष का चुनाव करेंगे. वोटिंग के लिए देश भर में 40 केंद्रों पर 68 बूथ बनाए गए हैं. कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाद्रा एआईसीसी मुख्यालय में मतदान कर सकती हैं. वहीं राहुल गांधी कर्नाटक में बेल्लारी के संगनाकल्लू में भारत जोड़ो यात्रा के शिविर स्थल पर मतदान में भाग लेंगे. उनके साथ पीसीसी के करीब 40 प्रतिनिधि भी मतदान करेंगे जो यात्रा में शामिल हैं.

गांधी परिवार से कोई नहीं होगा दावेदार

कांग्रेस अध्यक्ष पद के लिए पिछली बार चुनाव 2000 में हुआ था जब जितेंद्र प्रसाद को सोनिया गांधी के हाथों जबरदस्त हार का सामना करना पड़ा था. सोनिया, राहुल और प्रियंका गांधी वाद्रा ने इस बार अध्यक्ष पद की दौड़ से बाहर रहने का फैसला किया है जिससे 24 साल के अंतराल के बाद गांधी परिवार के बाहर का सदस्य इस जिम्मेदारी को संभालेगा।

राहुल गांधी के लिए भी बनाया गया केंद्र

एक बूथ भारत जोड़ो यात्रा के कैंप में बयाया गया है, जहां राहुल गांधी और करीब 40 मतदाता मतदान करेंगे. केंद्रीय चुनाव प्राधिकरण ने कर्नाटक के बेल्लारी के Sanganakallu में यात्रा से जुड़े विश्राम स्थल पर मतदान की व्यवस्था की है. राहुल गांधी समेत कुल 40 'भारत यात्री' प्रदेश कांग्रेस कमेटी के डेलीगेट (निर्वाचक मंडल के सदस्य) हैं।


Find Us on Facebook

Trending News