हम साथ-साथ हैं ! गले मिलते नजर आये अशोक चौधरी-अजित शर्मा, कांग्रेस विधायकों के पाला बदलने की चर्चा के बीच सामने आई ये तस्वीर

हम साथ-साथ हैं ! गले मिलते नजर आये अशोक चौधरी-अजित शर्मा, कांग्रेस विधायकों के पाला बदलने की चर्चा के बीच सामने आई ये तस्वीर

PATNA: बिहार विधानसभा का मॉनसून सत्र चल रहा। इधर सत्ता पक्ष के सहयोगी मुकेश सहनी नाराज चल रहे हैं। एनडीए के घटक दल हम-वीआईपी की वजह से नीतीश सरकार पर हमेशा संकट के बादल मंडराते रहते हैं। हालांकि विस चुनाव के बाद से ही कांग्रेस में टूट की चर्चा हो रही। बताया जाता है कि सत्ताधारी जेडीयू की तरफ से पूर्व कांग्रेसी व नीतीश सरकार में मंत्री अशोक चौधरी को जिम्मा दिया गया है। जेडीयू कांग्रेस के 19 विधायकों में दो-तिहाई विधायकों को अपने पाले में लाने की कोशिश में है। हालांकि इसमें अब तक कामयाबी नहीं मिल सकी है. आज बिहार विधानसभा में अशोक चौधरी और कांग्रेस विधायक दल के नेता गलबंहियां करते दिखे। दोनों नेताओं के गले मिलने वाली तस्वीर बहुत कुछ कह रही है।  

बिहार विधानसभा में आज जेडीयू नेता व मंत्री अशोक चौधरी और कांग्रेस विधायक दल के नेता अजित शर्मा मीडिया के सामने गले गले मिलते दिखे। अजित शर्मा के साथ कांग्रेस के एक और विधायक थे। अजित शर्मा कह रहे थे कि कांग्रेस विधायकों में कोई टूट नहीं होने वाली है। सभी 19 विधायक पूरी तरह से एकजुट हैं। हालांकि अशोक चौधरी का कहना था कि जेडीयू तोड़फोड़ में विश्वास नहीं करती। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के कामों से प्रभावित होकर लोग खुद साथ आते हैं। हमलोग दूसरे दलों में ताकझांक नहीं करते। 


बता दें, जेडीयू काफी दिनों से कांग्रेस विधायकों में टूट की कोशिश में जुटा है। वैसे इसके पहले यानी 2020 विधानसभा चुनाव से पूर्व (2018-19) में भी कांग्रेस विधायक दल को तोड़ने की कोशिश हुई थी। तब भी जेडीयू की तरफ से अशोक चौधरी को ही जिम्मा दिया गया था। हालांकि कांग्रेस के विधायक टूटते-टूटते बच गये थे। केंद्रीय नेतृत्व बड़ी मुश्किल से अपने विधायकों को बचा सका था।  2020 विस चुनाव के बाद जेडीयू ने बसपा-लोजपा के एक-एक विधायकों को अपने पाले में मिला है। इसके बाद जेडीयू की नजर अब कांग्रेस विधायकों पर है। 


Find Us on Facebook

Trending News