27 अप्रैल को मनाया जायेगा हनुमान जन्मोत्सव ,रामभक्त को खुश रखने के लिए जरूर करें ये काम

27 अप्रैल को मनाया जायेगा हनुमान जन्मोत्सव ,रामभक्त को खुश रखने के लिए जरूर करें ये काम

DESK: पौराणिक मान्यताओं के अनुसार हनुमान जी इस कलयुग में भी अजर- अमर हैं। हर वर्ष चैत्र शुक्ल की पूर्णिमा के दिन हनुमान जी का जन्मोत्सव मनाया जाता है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार इसी पावन दिन हनुमान जी ने माता अंजनी की कोख से जन्म लिया था। इस साल मंगलवार, 27 अप्रैल को हनुमान जन्मोत्सव मनाया जाएगा। 

हनुमान जी की कृपा से व्यक्ति को सभी तरह की समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है। हनुमान जी व्यक्ति की सभी मनोकामनाओं को पूरा करते हैं। पूजा की अगर बात करे तो व्रत धारण करने बड़ी उत्सुकता और जोश के साथ समर्पित होकर इनकी पूजा करते है।. चूँकि यह कहा जाता है कि ये बाल ब्रह्मचारी थे इसलिए इन्हे जनेऊ भी पहनाई जाती है। हनुमानजी की मूर्ति पर सिंदूर और चांदी का वर्क चढाने की परम्परा है।

हनुमान चालीसा का पाठ

हनुमान जी की कृपा प्राप्त करने के लिए नित्य हनुमान चालीसा का पाठ करना चाहिए। हनुमान चालीसा का पाठ करने से हनुमान जी की विशेष कृपा प्राप्त होती है। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार हनुमान चालीसा के पाठ करने से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती हैं। हनुमान जन्मोत्सव के दिन एक से अधिक हनुमान चालीसा पढने का प्रयास करें।

सुंदरकांड पाठ

हनुमान जी की कृपा प्राप्त करने के लिए सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जिन लोगों में आत्मविश्वास की कमी है उन्हें नित्य सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए। सुंदरकांड का पाठ करने से सभी तरह की समस्याओं से छुटकारा मिल जाता है। हनुमान जन्मोत्सव के दिन सुंदरकांड का पाठ अवश्य करें।

राम नाम का सुमिरन

हनुमान जी को प्रसन्न करने का सबसे सरल उपाय है भगवान श्री राम के नाम का सुमिरन। धार्मिक मान्यताओं के अनुसार जो व्यक्ति नित्य राम नाम का सुमिरन करता है उस पर हनुमान जी की विशेष कृपा बनी रहती है। आप श्री राम, जय राम, सिया राम का सुमिरन कर सकते हैं। राम नाम का सुमिरन करने में भी कोई विशेष नियम नहीं होता है। आप कभी भी कहीं भी राम नाम का सुमिरन कर सकते हैं।

भोग लगाएं

हनुमान जी को प्रसन्न करने के लिए हनुमान जन्मोत्स के दिन अपनी श्रद्धा अनुसार भोग जरूर लगाएं। भगवान के भोग में सात्विकता का विशेष ध्यान रखें। भगवान को सिर्फ सात्विक चीजों का ही भोग लगाया जाता है। लोग उन्हें प्रायः लड्डू का भोग लगाते हैं।


Find Us on Facebook

Trending News