फर्जी शिक्षकों की खैर नहीं : डिग्री गलत पाए जाने पर जाएगी नौकरी

फर्जी शिक्षकों की खैर नहीं : डिग्री गलत पाए जाने पर जाएगी नौकरी

BEGUSARAI : शिक्षा विभाग में एक बार फिर व्यापक पैमाने पर गड़बड़ी का मामला प्रकाश में आया है. इस मामले में सिर्फ एक बखरी अनुमंडल में 2 दर्जन से अधिक ऐसे शिक्षक हैं जिन्होंने अमान्य संस्थाओं से फर्जी डिग्री प्राप्त कर शिक्षक के रूप में अपना योगदान दिया है. साथ ही बरसों से सरकार को चूना लगा रहे हैं. हालांकि अब वरीय पदाधिकारियों तक बात पहुंचने के बाद शिक्षा विभाग ने कमर कस ली है. विभाग ऐसे फर्जी शिक्षकों की पड़ताल में जुट गया है और उन्हें नौकरी से निकालने की तैयारी भी कर ली गयी है.

बेगूसराय के बखरी में जिस ढंग का मामला प्रकाश में आया है उसने विभाग ही नहीं आम लोगों को भी हैरत में डाल रखा है. दरअसल विभाग को फर्जी डिग्री पर शिक्षक नियुक्ति की भनक पूर्व में भी लग चुकी थी. इस सम्बन्ध में राज्य सचिव की ओर से जिला शिक्षा पदाधिकारी को जांच कर ऐसे फर्जी शिक्षकों की नियुक्ति रद्द करने का निर्देश दिया गया था. 

इसी निर्देश के आलोक में जब जिला शिक्षा पदाधिकारी ने बखरी के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी को जांच का जिम्मा सौंपा तो चौंकाने वाले खुलासे हुए. प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी की जांच में विभिन्न विद्यालयों में कार्यरत 28 ऐसे शिक्षक पाए गए जो अमान्य कॉलेज एवं ट्रेनिंग सेंटर से डिग्री प्राप्त कर शिक्षक की नौकरी कर रहे हैं. 

अब विभाग ने ऐसे शिक्षकों की सूची तैयार कर ली है. साथ ही विस्तृत जांच के बाद कार्यमुक्त करने की दिशा में प्रक्रिया भी शुरू कर दी गयी है. हालाँकि मीडिया के सवाल को जिला शिक्षा पदाधिकारी ने टाल दिया और कहा की यह जांच के बाद स्पष्ट होगा. जो भी जांच के दायरे में दोषी पाए जाएंगे उन पर विभागीय कार्रवाई भी की जाएगी. 

बेगूसराय से धनंजय झा की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News