एंटी सैटेलाइट मिसाइल भारत का सबसे बड़ा हथियार, जानिए क्या है 'मिशन शक्ति'

एंटी सैटेलाइट मिसाइल भारत का सबसे बड़ा हथियार, जानिए क्या है 'मिशन शक्ति'

अपने देश के लिए खुशखबरी है। भारत अंतरिक्ष में चौथी सबसे बड़ी शक्ति बना गया है। भारत ने अंतरिक्ष में महाशक्ति हासिल करते हुए पृथ्वी की निचली कक्षा में 300 किलोमीटर दूर एक सैटेलाइट को मार गिराया है। भारतीय वैज्ञानिकों ने इस अभियान को 'मिशन शक्ति' नाम दिया है। भारत ने अमेरिका, रूस और चीन के बाद अंतरिक्ष में ये उपलब्धि हासिल की है। 

 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को राष्ट्र के नाम संबोधन में कहा कि वैज्ञानिकों ने लो अर्थ ऑर्बिट में 300 किलोमीटर दूर एक लाइव सैटेलाइट मार गिराया। यह ऑपरेशन ‘मिशन शक्ति’ भारत की एंटी सैटैलाइट मिसाइल ए-सैट के जरिए सिर्फ तीन मिनट में पूरा किया गया।

 डीआरडीओ के चेयरमैन जी. सतीश रेड्डी ने भी कहा कि हमने दुनिया को बता दिया है कि हम भी सैटेलाइट्स को कुछ सेंटीमीटर पास जाकर भी गिरा सकते हैं। डिफेंस एक्सपर्टस ने भी कहा कि जंग की स्थिति में यह मिसाइल टेक्नोलॉजी दुश्मन देश में ब्लैक आउट जैसी स्थिति पैदा कर सकती है। वहीं डीआरडीओ के पूर्व प्रमुख डॉ. वीके सारस्वत का कहना है कि अगर विरोधी देशों ने अंतरिक्ष में हथियार तैनात किए, तो भारत उनका मुकाबला करने की स्थिति में होगा।

जंग के लिए मिला नया हथियार

ऐसा माना जाता है कि जिस देश के पास यह टेक्नोलॉजी होती है जंग होने की स्थिति में वह अतिरिक्त फायदे में होता है। ऐसी तकनीक दुश्मन के किसी भी सैटेलाइट को जाम कर सकती है या नष्ट कर सकती है। ऐसा करने पर दुश्मन को अपने सैनिकों के मूवमेंट या परमाणु मिसाइलों की पोजिशनिंग करने में परेशानी आ सकती है। भारत के इस तकनीक को हासिल करने के ये मायने हैं कि चीन या पाकिस्तान से जंग होने की स्थिति में सही समय पर इसका इस्तेमाल करने पर यह मिसाइल देश का सबसे बड़ा हथियार होगी।


Find Us on Facebook

Trending News